Friday, April 30, 2021

हमारे सिर पर कैसा हेलमेट होना चाहिए

बड़ा सवाल है कि हमारे सिर पर कैसा हेलमेट होना चाहिए। अक्सर लोग सस्ता हेलमेट खरीद लेते हैं।  यह सिर्फ लाइसेंस बचाने के लिए होता है। ट्रैफिक के चालान से बचने के लिए।  पर वास्तव में हेलमेट तो आपकी सिर के सुरक्षा के लिए होना चाहिए। 

आरिफ खान गाजियाबाद के रहने वाले युवा उद्यमी हैं। वे सुरक्षित हेलमेट के अभियान से जुड़े हुए हैं।   वे बताते हैं कि अक्सर हमलोग लाइसेंस बचाने के लिए फुटपाथ पर बिकने वाली अस्थायी दुकानों से सस्ती हेलमेट खरीद लेते हैं। वे आपके सिर की सुरक्षा कर पाने में बिल्कुल सक्षम नहीं है। कई बार तो ये हेलमेट  मामूली सी हथौड़ी मारने  से टूट जाते हैं। 


गुणवत्ता से समझौता नहीं करें-  आजकल नई बाइक या स्कूटी खरीदने पर   बिल के साथ   हेलमेट लेना जरूरी होता है। पर अक्सर एजेंसी वाले आपको जो हेलमेट थमा देतें हैं वह भी टॉप ब्रांड का नहीं होता।  जब हम बाइक खरीदने में 40 हजार से दो लाख रुपये खर्च कर देते हैं हेलमेट के साथ कुछ सौ रूपये के लिए समझौता क्यों करते हैं। 


तो कैसा होना चाहिए हमारा हेलमेट।  जो लोग लंबी यात्राएं करते हैं प्रोफेशनल बाइकर हैं वे हेलमेट का महत्व जानते हैं। वे जानते हैं कि आपका हेलमेट उच्च गुणवत्ता का होना चाहिए। ऐसे लोग कभी सस्ते हेलमेट का इस्तेमाल नहीं करते। 


फुटपाथ से हेलमेट न खरीदें - तो आप भी कभी फुटपाथ या किसी दुकान से सस्ती क्वालिटी का हेलमेट नहीं खरीदें। जब भी खरीदें उच्च गुणवत्ता का मजबूत हेलमेट ही खरीदें । पर उच्च गुणवत्ता की पहचान कैसे हो। क्या आईएसआई मार्क लगा हर हेलमेट ठीक  है। तो इसका जवाब भी ना में है। सिर्फ आईएसआई मार्क दिखाई दे जाने से कुछ नहीं होता। 


 ब्रांडेड कंपनी का उत्पाद खरीदें -  हेलमेट हमेशा किसी  ब्रांडेड कंपनी का ही खऱीदें। कानून से बचने के लिए हेलमेट नहीं खरीदें। आपका जीवन कीमती है इसलिए जीवन को बचाने वाला हेलमेट ही खरीदें।   ब्रांडेड कंपनियों में आप स्टड्स और स्टीलबर्ड पर भरोसा रख सकते हैं। इनका हेलमेट 900 रुपये से आरंभ हो जाता है। आपको पता महंगे  हेलमेट को 32 हजार रुपये तक के आते हैं।


हर यात्रा पर हेलमेट पहनें -  सिर्फ लंबी दूरी की यात्राओं ही नहीं छोटी छोटी दूरी पर निकलते समय भी बाइक या स्कूटी पर सवार हों तो हेलमेट जरूर लगा लें।  आपको पता ही होगा कि हादसे कभी बता कर नहीं आते।   मेरे कई ऐसे दोस्तों के  सड़क हादसों से उदाहरण हैं जहां सिर्फ हेलमेट होने के कारण वे जिंदा बच सके। 

पिछली सवारी के लिए भी जरूरी - और हां  बाइक या स्कूटी चलाते समय  सिर्फ अपने सिर पर ही नहीं बल्कि पिछली सवारी के लिए हेलमेट जरूरी है। यह कानून भी  जरूरी है। साथ ही पिछली सवारी की सुरक्षा के लिए भी जरूरी है।


साइज के अनुरूप हो हेलमेट - हमेशा  हेलमेट अपने सिर के साइज के अनुरूप खरीदें। यह  बहुत ढीला भी नहीं होना चाहिए और बहुत टाइट भी नहीं होना चाहिए।  अक्सर हाफ कट वाले और ठीक से नहीं बंधे हुए हेलमेट से बचना चाहिए। 

- विद्युत प्रकाश मौर्य - vidyutp@gmail.com 

( GOOD QUALITY HELMET , TRAVEL, STUDDS, STEELBIRD )

No comments:

Post a Comment