Tuesday, April 20, 2021

एक दिन यादों शुमार हो जाएगा एंबेस्डर


आजकल भले कार खरीदने जाएं तो आपके पास एक दर्जन से ज्यादा कंपनियों के सैकड़ों मॉडल विकल्प में मौजूद हैं, पर अस्सी के दशक में कार मतलब एंबेस्डर होता था। तब मारूति या कोई और कंपनी भारत में नहीं आई थी। एंबेस्डर या प्रिमियर पद्मिनी ही विकल्प थे कार खरीदने वालों के लिए। पर एंबेस्डर को शाही सवारी माना जाता था।


सभी सरकारी महकमों के अधिकारियों के पास यही कार हुआ करती थी। चाहे किराये की टैक्सी हो या फिर शादी में दुल्हे की बारात सजनी हो सब जगह एंबेस्डर ही दिखाई देती थी। मेड इन इंडिया    कार   अंबेसडर को 1960 और 1970 के दशक में स्टेट्स सिंबल के रूप में देखा जाता था। इस दौर के तमाम लोगों का  इस कार के साथ  कोई भावनात्मक  जुड़ाव जरूर रहा है।  कई संभ्रांत लोग सफेद रंग की एंबेस्डर को खास तौर पर पसंद करते थे।


अब सड़कों पर,  रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट पर आपको सिर्फ पुरानी एंबेस्डर कारें दिखाई दे जाती हैं, क्योंकि इसका निर्माण बंद हो चुका है। पर आपको पता है कि अंबेसडर ने भारत की पहली डीजल   कार    भी पेश की थी।  यह एक 1800  सीसी की कार हुआ करती  थी।  ताकत की बात करें तो  आजकल की   एंट्री लेवर की कारों से ज्यादा  थी। पर  पेट्रोल भी कुछ ज्यादा पीती थी। 


शुरुआत की बात करें तो साल 1958 से लेकर 2014 तक   एंबेसडर   का देश में उत्पादन हुआ। हिन्द मोटर्स के हावड़ा के पास उत्तरपाड़ा  स्थित प्लांट से इसका उत्पादन होता था। अब यह कंपनी बंद हो चुकी है।  साल 2017 में  इसका ब्रांड नेम भी  फ्रांसिसी कंपनी पीएसए  समूह को बेच दिया गया।


पर  साल 2034 तक  आपको सड़कों पर एंबेस्डर दौड़ती हुई  दिखाई दे सकती है।  उत्पादन के आखिरी  साल के 20 साल बाद  तक यह सड़कों पर दौड़ सकती है। इसके बाद तो इसे कबाड़ करना पड़ेगा। फिर  कुछ सालों बाद यह  विंटाज कारों  की सूची में शामिल  हो जाएगी।



 एंबेसडर कार जब से अस्तित्व में आई तब से उसका डिजाइन लगभग एक जैसा ही रहा।  इसके मॉडल में ज्यादा  आर एंड डी (शोध ) नहीं हुआ। यह कारों में सीडान  किस्म की है। इसके पीछे की डिग्गी में सामान रखने के लिए काफी जगह है। इंजन  और ड्राईवर के बीच  भी  अच्छी जगह होने के कारण यह हादसों में भी ज्यादा सुरक्षित वाहन मानी जाती रही है। 

 
- विद्युत प्रकाश मौर्य - vidyutp@gmail.com 
( HIND MOTERS, BIRLA GROUP,  AMBASSADOR CAR) 



1 comment: