Monday, February 1, 2021

दिल्ली में स्वामी विवेकानंद की जीवंत अनुभूति - रामकृष्ण मिशन आश्रम में

 

स्वामी विवेकानन्द का 1893 में  शिकागो के सर्व धर्म सम्मेलन में दिया गए उस महान भाषण के बारे में आपने  सुना होगा। यह एक युगांतकारी घटना थी। इसके बाद विश्व पटल पर भारत का,  भारतीयता  का और सनातन हिंदू धर्म का डंका बज उठा  था। स्वामी  विवेकानन्द के उस महान भाषण को आप दिल्ली में सुन सकते हैं । 


इसे 3डी तकनीक से देखने सुनने का जीवंत एहसास किया जा सकता है  दिल्ली के रामकृष्ण मिशन आश्रम  में ।  यहां के आडिटोरियम में 17 मिनट का 3डी शो संचालित होता है।   स्वामी जी का पानी के जहाज से अमेरिका जाना,  शिकागो के मंच पर उनका ब्रदर्स एंड सिस्टर्स आफ अमेरिका का उदघोष सुनना,  एक ऐतिहासिक घटना को जीवंत कर देता है। 

यह शो हर शनिवार और रविवार को  यहां आने वाले दर्शकों की सुविधा के अनुसार संचालित होता है। शो के लिए टिकट दर सिर्फ 40 रुपये है। बच्चों के लिए टिकट दर  महज 20 रुपये है।  3डी आडिटोरियम में एक साथ 20 लोग इस शो को देख सकते हैं।  


पर  इतना ही नहीं यहां पर आप  स्वामी विवेकानंद को  आर्टिफिशियल रियलिटी  ( एआर) और वर्चुअल रियलिटी ( वीआर ) से भी महसूस कर सकते हैं।   वर्चुअल रियलिटी के साथ स्वामी विवेकानंद के कन्याकुमारी प्रसंग  को महसूस करना बड़ा ही आनंददायक अनुभव है। इसे एक साथ  चार लोग महसूस कर सकते हैं।  स्वामी जी का  ध्यान के लिए शिला पर जाने के लिए समंदर में छलांग देने का अनुभव हो या फिर  पीड़ित मानवता और देश की गरीबी को देखकर विवेकानंद का द्रवित हो जाना यह सब कुछ यहां देखा  जा सकता है।  इसे देखते हुए ऐसा प्रतीत होता है मानो आप उस दुनिया में जा चुके हों। 


इस शो का तीसरा आकर्षण है   आस्क फ्रॉम विवेकानंद। आप  कोई सवाल पूछेें और इसका जवाब स्वयं स्वामी विवेकानंद देंगे।   यह सब कुछ संभव हो सका  है आर्टिफिशिल रियलिटी  से।   इस डिजिटल प्रदर्शनी में आप विवेकानंद के जीवन से जुड़े तस्वीरों और घटनाक्रम को अपनी सुविधा से अलग अलग टच स्क्रीन के माध्यम से देख सुन और महसूस कर सकते हैं।  


प्रदर्शन के अंदर विवेकानंद का कोलकाता में जन्म, उनकी शिक्षा दीक्षा, रामकृष्ण परमहंस से उनकी मुलाकात.   उनकी प्रसिद्ध रायपुर यात्रा  ,  उनकी  शिकागो यात्रा आदि प्रसंगों को  न सिर्फ चित्रों बल्कि मूर्ति प्रदर्शनी में देखा जा सकता है।   यह सब कुछ खास तौर पर स्कूली बच्चों और युवाओं के लिए काफी प्रेरक हो सकता है।   


स्कूल के छात्र चाहें तो अपने स्कूल की टीम के साथ यहां आ सकते हैं। इसके लिए  रामकृष्ण मिशन से पूर्व  में  ईमेल भेजकर सहमति ले ली जाए तो ज्यादा अच्छा है। अगर कोई  समूह में आना चाहे तो   सोमवार से शुक्रवार के बीच भी अनुमति प्राप्त की जा सकती है। वैसे  यह डिजिटल संग्रहालय  आम दर्शकों के लिए शनिवार और रविवार को खुला रहता है। 


रामकृष्ण मिशन आश्रम के सुंदर हरे भरे परिसर में   एक मंदिर भी है। इस मंदिर में   रामकृष्ण परमहंस , मां शारदा देवी और   स्वामी विवेकानंद की मूर्तियां हैं। दिल्ली के श्रद्धालु यहां अक्सर  आते रहते हैं। परिसर में एक  आडिटोरियम है जहां समय समय पर   व्यक्तित्व विकास और आधात्यम से  जुड़े व्याख्यान होते रहते हैं।  परिसर में एक पुस्तकालय और एक पुस्तक बिक्री केंद्र भी है। 


पुस्तकों का विशाल संग्रह  -  पुस्तक बिक्री केंद्र से  आप हिंदी, अंग्रेजी और बांग्ला भाषा में विवेकानंद से जुड़ा साहित्य खरीद सकते हैं।  यहां पुस्तकों का बड़ा स्टाक है। डिजिटल पेमेट की  भी सुविधा उपलब्ध है। पुस्तक बिक्री केद्र सुबह 10 बजे से शाम सात बजे तक खुला रहता है। दोपहर 12 से 3.30 बजे तक बीच में  बंद रहता है। वहीं मंदिर  सुबह आठ से 11 और शाम को 4 से 8 बजे तक खुला रहता है। आप शाम को 5.30 बजे मंदिर की आरती में भी शामिल हो सकते हैं। 


रामकृष्ण मिशन आश्रम की और से यहां पर एक होमियोपैथिक  चिकित्सालय का संचालन होता है।  मिशन की  ओर से दिल्ली में 90 सालों से  चिकित्सालय का भी संचालन किया जा रहा है।  रामकृष्ण आश्रम दिल्ली के सचिव स्वामी शांतात्मानंद जी  बताते हैं कि  मिशन ने  सन 1931 से दिल्ली में टीबी की चिकित्सा का   कार्य शुरू किया था जो आज भी जारी है। 


कैसे पहुंचे – रामकृष्ण मिशन आश्रम पहुंचना बहुत आसान है। दिल्ली मेट्रो पर ब्लू लाइन पर राजीव चौक के बाद रामकृष्ण मिशन आश्रम का मेट्रो स्टेशन है। यहां से गेट नंबर दो से बाहर निकलते ही आपको रामकृष्ण मिशन आश्रम का प्रवेश द्वार नजर आता है। यहां आप नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के पहाड़गंज वाले क्षेत्र में बाहर निकलने के बाद बैटरी रिक्शा से भी सहजता से पहुंच सकते हैं।

रामकृष्ण मिशन की वेबसाइट पर जाएं -( https://rkmdelhi.org/ ) 

फोन संपर्क -  011- 45626785, 41071817, 23587110

-    विद्युत प्रकाश मौर्य – vidyutp@gmail.com


 ( RAMKRISHMNA  ASHRAM, DELHI, METRO,  SWAMI VIVEKANAND, 3D SHOW, AR, VR, DIGITAL MUSEUM ) 

No comments:

Post a Comment