Wednesday, October 14, 2020

चलिए गंगा स्नान करने छोटा हरिद्वार



अगर आप गंगा स्नान के लिए हरिद्वार नहीं जा सकते तो क्या छोटा हरिद्वार है ना। ये कहां है भाई। तो सभी गंगा प्रेमियों को मालूम है कि छोटा हरिद्वार गाजियाबाद में मुरादनगर और मोदीनगर के बीच में है। यहां तक की गूगल मैप्स पर भी इसे छोटा हरिद्वार कहा जाने लगा है।



दरअसल हरिद्वार से आने वाले गंग नहर मुरादनगर और मोदीनगर के बीच से होकर गुजरती है। जब आप गाजियाबाद में मोहननगर से आगे चलते हैं तो मोरटा, गुलधर के बाद दुहाई में पेरिफरल एक्सप्रेस वे को पार करते हैं। इसके बाद मुरादनगर कस्बा शुरू हो जाता है। कभी मुरादनगर गाजियाबाद से दूर हुआ करता था। पर अब शहर के विस्तार ने मुरादनगर को गाजियाबाद का हिस्सा बना लिया है। यह गाजियाबद मेरठ लाइन पर रेलवे स्टेशन भी है। पर मुरादनगर प्रसिद्ध है आयुध निर्माणी फैक्टरी के लिए। जी हां यहां पर रक्षा मंत्रालय का हथियार बनाने का कारखाना है। इसलिए मुरादनगर में कई दशक से देश भर के लोग आकर बसते रहे हैं।

तो मुरादनगर शहर को पार करने के बाद अपर गंग कैनाल दिल्ली मेरठ हाईवे को क्रॉस करती है। यहीं पर बना है छोटा हरिद्वार। इसे छोटा हरिद्वार नाम गंगा के श्रद्धालुओं ने दिया है। दरअसल हरिद्वार में हर की पैड़ी की तरह ही यहां पर भी गंग नगर में दोनों तरफ स्नान के लिए घाट का निर्माण कराया गया है। गंग नहर में पानी की गहराई 12 फीट है और पानी का बहाव काफी तेज है इसलिए स्नान घाट के पास लोहे की जंजीरें भी लगाई गई हैं जिससे स्नान करने वालों की सुरक्षा बनी रहे। यहां पर शिव जी की मूर्ति और एक शनि का मंदिर भी है। गाहे बगाहे यहां पर साधुओं लोगों का डेरा भी लगा रहता है।

अब भला इसे छोटा हरिद्वार क्यों मानें। तो आप यूं समझिए कि हरिद्वार में हर की पैड़ी में जिस गंगा जी के पानी में आप स्नान करते हैं वही गंगा जी का पानी यहां पर चल कर आता है। यहां से हरिद्वार की दूरी गंग नहर के रास्ते से 160 किलोमीटर है। अगर आप हर की पैड़ी की हकीकत को जाने तो वह भी गंगा जी की मूल धारा नहीं है। गंगा जी पर हरिद्वार में भीगोडा में बैराज बनाया गया है। उस बैराज से नहर निकाली गई है। इस नहर का ही पानी हर की पैड़ी में आता है। तो हरिद्वार की हर की पैड़ी में आप जिस गंगा में स्नान करते हैं वह भी गंग नहर ही है।

वही ब्रिटिशकालीन गंग नगर हरिद्वार से चलकर मुरादनगर होते हुए आगे की ओर बढ़ती जा रही है। इस गंग नगर में रास्ते में कहीं किसी और नदी नाले का पानी नहीं मिलता। इसलिए आपको मुरादनगर में भी विशुद्ध गंगा जल मिलता है, स्नान के लिए। इसलिए अगर आप दिल्ली एनसीआर में रहते हैं और आपको गंगा स्नान के लिए हरिद्वार तक जाने का समय नहीं है तो कोई बात नहीं। मुरादनगर से आगे गंग नहर पहुंचे और गंगा स्नान का सौभाग्य प्राप्त करें। स्नान के बाद कुछ खाना पीना हो तो वहीं कई रेस्टोरेंट भी मौजूद हैं।
-         विद्युत प्रकाश मौर्य vidyutp@gmail.com    
 ( GANG NAHAR, GANGA BATH, CHOTA HARIDWAR, MURADNAGAR ) 


No comments:

Post a Comment