Friday, December 20, 2019

स्मिथ द्वीप पर तीन घंटे – जन्नत की सैर


स्मिथ एंड रॉस द्वीप। यहां आकर लगा कि यहां आने का फैसला कितना सही था। अंदमान के तमाम द्वीपों के बीच स्मिथ एंड रॉस का सौंदर्य कुछ अलग है। यह हैवलॉक जैसे भीड़ भाड़ से दूर एक शांत द्वीप है। ऐसा द्वीप जहां कोई आबादी नहीं है। सिर्फ सैलानियों को दिन में आने की अनुमति है। स्मिथ और रॉस दो अलग अलग द्वीप हैं। पर दोनों मिलते हैं। एक छोटी सी मुलाकात की तरह। एक रेतीला रास्ता दोनों द्वीपों को जोड़ता है।

लगभग 15 मिनट के सफर के बाद हमलोग स्मिथ आईलैंड पर पहुंच गए हैं। हमारे नाविक का नाम सुब्रतो चक्रवर्ती है। स्मिथ आईलैंड पर उतरते ही एक अलग तरह की खुशी का एहसास हो रहा है। बगल वाले रॉस आइलैंड पर हमें नहीं जाना। वहां जाने के लिए अलग से अनुमति लेनी पड़ती है। रॉस पर वन्य जीव और मैंग्रोव भी हैं। हमारे नाव वाले ने हमें समझा दिया है कि आपलोग रॉस की ओर मत जाना नहीं तो जुर्माना भरना पड़ सकता है।

हमारे ह्वाइट कोरल के पीछे पीछे कुछ और नावें पहुंच गई हैं तो इस निर्जन द्वीप पर थोड़ी रौनक हो गई है। द्वीप पर एक वाच टावर बना है जिस पर चढकर आप दूर समंदर का नजारा कर सकते हैं। इसके अलावा कई बैठने के लिए प्राकृतिक हट (झोपड़ी) बनी हुई हैं। सबसे मजेदार हैं यहां समंदर में नहाने का आनंद। मैं आते ही नहाने वाले स्थान पर जाकर पानी में कूद गया। नहाने में खतरा न हो इसके लिए पानी में एक सीमा रेखा बनाई गई है।

द्वीप पर कुछ पेड़ों के साथ सुंदर हट्स बनाए गए हैं। इन पेड़ों पर आप चढ़ सकते हैं। कुछ दूर तक जंगल में ट्रैकिंग भी कर सकते हैं। यहां जंगली जानवरों का कोई खतरा नहीं है। इन द्वीपों पर पहुंचने वाले सैलानी आते ही मस्ती में डूब जाते हैं।

स्मिथ द्वीप पर वैसे तो हमें तीन घंटे का समय दिया गया है। पर ये समय कब गुजर जाता है पता ही नहीं चलता। द्वीप पर लेटकर समंदर का नजारा करने के लिए लकड़ी की बेंच लगी हैं। इन सबके लिए आपको कोई अलग से शुल्क नहीं देना पड़ता है। यहां कुछ झूले भी लगे हैं। तो अनादि इस पर बैठकर झूलने लगे।

द्वीप पर एक अस्थायी कैंटीन है। यहां पर नारियल पानी के अलावा खाने की पीने की कुछ चीजें मिलती हैं। बेहतर है कि आप अपने साथ कुछ खाने पीने की चीजें पैक कराकर लाएं। साथ ही पीने के पानी की अपनी बोतल भी साथ लेकर आएं।

बताया जाता है कि पहले कभी स्मिथ आईलैंड पर भी लोग रहते थे। पर अब प्रशासन ने इस द्वीप के गांवों को यहां से हटा दिया है। किसी जमाने में इन द्वीपों पर रात में रहने की अनुमति भी हुआ करती थी। पर अब नहीं है। अगर आप निर्धारित अवधि तीन घंटे से ज्यादा समय तक स्मिथ आईलैंड पर रुकना चाहते हैं तो इसके लिए आपको बोट वाले को वेटिंग चार्च का भुगतान करना होगा।
स्मिथ द्वीप पर एक जगह बोर्ड लगा है कि मगरमच्छ से सावधान रहें। मतलब यहां पानी में मगरमच्छ हैं। तो आप भी सावधान रहिएगा। 

तीन घंटे स्मिथ द्वीप पर गुजारना किसी सपनीली दुनिया के सैर करने जैसा है। समय हो गया है, पर वापस जाने का दिल नहीं कर रहा है। पर जाना तो पड़ेगा। हम सब लोग अपने बोट में सवार हो चुके हैं। इस बार हमारे नाविक ने एक विशाल प्लास्टिक की चादर हम सबके ऊपर तान दी है। इसके साथ ही बोट की गति खूब बढा दी है। समंदर का पानी तेजी से उड़कर बोट में आ रहा है। पर प्लास्टिक की चादर के कारण बचाव हो पा रहा है। वापसी के इस सफर का आनंद भी अलग ही रहा।
 - विद्युत प्रकाश मौर्य - vidyutp@gmail.com  
( SMITH AND ROSS ISLAND ) 

अंदमान की यात्रा को पहली कड़ी से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।     

3 comments:

  1. स्मिथ द्वीप का सफर रोचक रहा। क्या इन दोनों द्वीपों पर जाने के लिए शुल्क देना होता है? या केवल अनुमति लेकर जाया जा सकता है? और यह अनुमति किधर मिलती है।

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुल्क नहीं है। जेट्टि पर ही परमिट बनता है।

      Delete