Sunday, November 17, 2019

अंदमान के ब्लेयर होटल में चार दिन


अंदमान में पहले दिन हमारा ठिकाना बना ओम गेस्ट हाउस। यह होटल मिडल प्वाइंट में सागरिका से थोड़ा पहले ही है। यहां हमने कमरा 800 रुपये प्रतिदिन पर बुक किया है। हालांकि कमरे का आकार छोटा है। यह तीन व्यक्तियों के लिए मुफीद नहीं है। यहां हमारी एक दिन की ही बुकिंग है। इसलिए वक्त काट लेंगे। पर हमें अगले दिन डिगलीपुर वाली बस में टिकट नहीं मिला। तो हमें एक दिन और पोर्ट ब्लेयर रुकना पड़ेगा। 

होटल की तलाश - मैंने मोहनपुरा बस स्टैंड के पास तीन होटलों में जाकर कमरा देखा। एक में 1000 रुपये का कमरा था तो दूसरे में 1250 का पर दोनो के कमरे पसंद नहीं आए। ये कमरे नॉन एसी थे। एक होटल वाले ने पहले कमरे का किराया तो 800 बताया पर उसने जब जाना कि मैं आइलैंड का नहीं हूं बल्कि मेनलैंड से आया हूं तो बोला 1000 रुपया लगेगा। यानी मेनलैंड और आइलैंड वालों के लिए अलग अलग रेट हैं कई होटलों में भी। यह सुनकर थोड़ा अचरज जरूर हुआ। 


कोई ठिकाना नहीं मिलने पर फिर मैं उस ब्लेयर होटल में गया जहां मैंने आखिरी दिन 28 से 30 तक कमरा बुक कर रखा है। यह होटल मोहनपुरा बस स्टैंड के पास ही है। वे हमें 1500 में एसी रूम देने को तैयार हो गए। ब्लेयर होटल मोहनपुरा बस स्टैंड के पास गांधी सर्किल से 200 मीटर की दूरी पर गुरुद्वारा लाइन के तिराहे पर है। उसके बगल में हिंदी भवन है। यहां आप मिडल प्वाइंट के चौराहे से उतर रही सड़क से पहुंच सकते हैं। होटल की लोकेशन अबरडीन बाजार के भी पास है।

लंबे चौड़े भवन वाले होटल में दूसरी मंजिल पर 24 कमरे हैं। सभी कमरे बड़े और दोनों तरफ से हवादार हैं। होटल की लॉबी इतनी विशाल और लंबी है कि इसी में आप सुबह की सैर कर सकते हैं। तो हमने अगले दिन के लिए ब्लेयर होटल में कमरा ले लिया। उन्होंने हमें 215 नंबर कमरा दिया। होटल आरओ पानी भी निःशुल्क उपलब्ध कराता है। यह बहुत अच्छी सुविधा है वरना सफर में हर रोज काफी पैसा पानी खरीदकर पीने में ही खर्च हो जाता है। होटल स्टाफ का व्यवहार काफी अच्छा है। हालांकि होटल का कोई अपना रेस्टोरेंट नहीं है, पर आसपास में खाने के कई विकल्प मौजूद हैं।

ब्लेयर होटल के बगल में गुरु इंटरनेशनल नामक होटल है। हमारे एक रिश्तेदार जब अपने हनीमून ट्रिप पर आए थे इसी होटल में ठहरे थे। यह भी अंदमान का अच्छा होटल है।

लगेज छोड़कर यूं ही चल पड़े  – डिगलीपुर जाने से पहले हमने तय किया सारा लगेज लेकर वहां नहीं जाएंगे बल्कि अपने तीन बड़े लगेज अंदमान के होटल में ही छोड़ देंगे, सिर्फ तीन पिट्ठू बैग लेकर ही आगे का सफर करेंगे। फिर तीन दिन बाद तो यहां वापस लौटना ही है। होटल ब्लेयर वाले हमारा लगेज रखने को तैयार हो गए। हमें जब सुबह 4 बजे बस पकड़नी थी तो होटल के रिसेप्सन पर कोई स्टाफ मौजूद नहीं था। हमने उपलब्ध मोबाइल नंबर पर फोन किया। उधर से जवाब आया अपना लगेज रिसेप्शन पर छोड़कर आप निश्चिंत होकर चले जाइए। और हमने यही किया। तीन दिन बाद लौटे तो हमारा लगेज सलामत मिला।

विशाल फेमिली रूम: डिगलीपुर से वापसी पर ब्लयेर होटल ने जो हमें कमरा दिया वह चार बिस्तरों वाला विशाल कमरा है। इसका आकार दिल्ली के किसी एचआईजी फ्लैट जितना बड़ा है। बड़ी अलमारियां, सोफा और विशाल टीवी सेट के साथ वास्तव में यह फेमिली रूम है। हालांकि हमारी बुकिंग छोटे कमरे की ही थी पर उन्होंने हमें यह विशाल एसी रूम प्रदान कर दिया। इस विशाल कमरे में हमने मजे से कुछ दिन गुजारे।
-        विद्युत प्रकाश मौर्य - vidyup@gmail.com 
( BLAIR HOTEL, PORT BLAIR, HINDI BHAWAN ) 
-         
    

2 comments:

  1. होटल की तो मारा मारी हो गयी....islander और non islander की costing में अंतर भी है वाह..

    ReplyDelete
    Replies
    1. हां जी, कुछ ऐसा ही है।

      Delete