Monday, September 2, 2019

पुरानी दिल्ली की खुशबू – सब्जी मंडी घंटाघर

Top post on IndiBlogger, the biggest community of Indian Bloggers
दिल्ली के रोशन आरा पार्क से आगे बढ़ते हुए आप कमला नगर की तरफ पहुंच जाते हैं। देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु की पत्नी के नाम पर बसा ये इलाका दिल्ली के सबसे पुराने महंगे बाजारों में शुमार है। यहां खरीददारी के लिए बड़े शोरूम तो खाने पीने के कुछ प्रसिद्ध रेस्टोरेंट हैं। दक्षिण दिल्ली में साउथ एक्सटेंशन और लाजपत नगर जैसे बाजारों से कमला नगर का बाजार ज्यादा पुराना है। कमलानगर के आसपास चंद्रावल, मलकागंज, सब्जी मंडी घंटा घर जैसे इलाके हैं। ये सारे इलाके दिल्ली विश्वविद्यालय के उत्तरी परिसर यानी मुख्य परिसर से काफी करीब हैं।
यहीं पर दिल्ली का पुराना इलाका सब्जी मंडी घंटा घर का इलाका है। दिल्ली में सब्जी मंडी नाम का रेलवे स्टेशन भी है। पुरानी दिल्ली से पानीपत जाने वाली लाइन पर सब्जी मंडी रेलवे स्टेशन पड़ता है। यहां पर नई दिल्ली और पुरानी दिल्ली वाली लाइनें मिल जाती हैं। मजे की बात है कि इस स्टेशन का नाम सिर्फ सब्जी मंडी है। मतलब इसमें दिल्ली नहीं लगा हुआ है। कुछ एक्सप्रेस रेलगाड़ियां भी यहां रुकती हैं। यह पुरानी दिल्ली का सब्जी मंडी इलाका था इसलिए यह आज भी सब्जी मंडी के नाम से ही जाना जाता है।

उत्तर भारत का परंपरागत बाजार
जब आप सब्जी मंडी घंटा के इलाके से गुजरते हैं तो आपको उत्तर भारत के किसी परंपरागत शहर से होकर गुजरने का एहसास होता है। यहां के दुकान-बाजार की खुशबू कुछ अलग सी है।

यहां मुझे टी शर्ट  पर प्रिंटिंग की कुछ दुकानें दिखाई देती हैं। आप आर्डर देकर टी शर्ट पर अपनी मनचाही फोटो या फिर कोई भी स्लोगन बनवा सकते हैं।
बात घंटा घर की। ज्यादातर उत्तर भारत के शहरों में शहर के बीच में एक घंटा घर हुआ करता है। दिल्ली में दो घंटा घर सुनने में आते हैं। एक सब्जी मंडी घंटा घर तो दूसरा हरि नगर घंटाघर। हालांकि सब्जी मंडी का घंटाघर ज्यादा पुराना नहीं है।

मुल्तान दी हट्टी बनाम पंडित दी हट्टी
इस घंटा घर का नाम रामरुप टावर है। यह 1941 का बना हुआ है। इसे किसी स्थानीय व्यवसायी ने बनवाया था। इस इलाके का यह आइकोनिक टावर है। इसके आसपास कुछ मिठाइयों की बेहतरीन दुकानें भी हैं। यहां पर एक दुकान है एमडीएच मतलब मुल्तान दी हट्टी। यहां आप खास तौर पर कई तरह के नमकीन खरीद सकते हैं। यहां नमकीन और पापड़ ताजे ताजे सामने बनते रहते हैं। यहां कई तरह की पिट्ठी खरीदी जा सकती है। एमडीएच के मुकाबले दूसरी दुकान है पीडीएच। बिल्कुल एक जैसा लोगो। पीडीएच मतलब पंडित दी हट्टी। दोनों के बीच मुकाबला रहता है।

मनोहर बीकानेरी की अनारकली
पर इन सबसे अलग सब्जी मंडी घंटा घर पर मिठाइयों की प्रसिद्ध दुकान है मनोहर बीकानेरी। मनोहर बीकानेरी के अंदर प्रवेश करने के बाद मिठाइयो की खुशबू से दिल खुश हो जाता है। यहां तमाम तरह की ताजी मिठाइयां मिलती हैं। हमेशा ग्राहकों की खूब भीड़ रहती है। पर मेरी सबसे पसंदीदा मिठाई रबड़ी यहां मिल रही है। ये रबड़ी मिट्टी की प्याली में है। तो इसका स्वाद और भी सोंधा हो जाता है।
रबड़ी के अलावा आप मनोहर बीकानेरी में मलाई रोल, अनारकली, छेना रोल, कच्चा गोला, संदेश जैसी मिठाइयों का स्वाद ले सकते हैं। सब्जी मंडी घंटा घर आप पुल बंगश मेट्रो स्टेशन से बैटरी रिक्शा लेकर पहुंच सकते हैं।

-        विद्युत प्रकाश मौर्य-  vidyutp@gmail.com 
(MANOHAR BIKANERI, MDH, PDH, GHNTAGHAR, SABJIMANDI ) 







 


2 comments:

  1. धन्यवाद,
    कभी ख्वाबों में कभी तेरे दर पे कभी दर बदर
    ए गमे जिंदगी तुझे ढूंढते हुए हम कहां भटक गए....

    ReplyDelete