Friday, December 28, 2018

उदयपुर – हिंदी फिल्मकारों की सदाबहार पसंद


अगर कोई ये पूछे कि मुंबई के बाद फिल्मकारों के लिए फिल्मों की शूटिंग के लिए सबसे पसंदीदा जगह कौन सी है तो हो सकता है इसका उत्तर उदयपुर ही हो। कई दशकों से उदयपुर और इसके आसपास के इलाके फिल्मकारों की पसंद रहे हैं।
देवानंद की कालजयी फिल्म गाइड (1965) को याद करें। इसकी अधिकतम हिस्सों की शूटिंग उदयपुर और इसके आसपास के इलाकों में हुई है। देव अपने सैलानियों को उदयपुर की गलियों में घूमाते हुए शहर की विशेषताएं बताते हैं। गाइड की शूटिंग चित्तौड़गढ़ में भी हुई। गाइड के जमाने में यहां मीटर गेज रेल आती थी। गाइड के रेलवे स्टेशन के नजारों में मीटर गेज रेल देखी जा सकती है।


इसके ठीक बाद 1966 में आई राज खोसला की फिल्म मेरा साया के अधिकांश हिस्सों की शूटिंग उदयपुर में ही हुई। इस फिल्म में लेक पैलेस होटल और सहेलियों की बाड़ी के नजारे देखे जा सकते हैं। फिल्म में सुनील दत्त और साधना सिवदासानी मुख्य भूमिका में थे। मेरा साया साथ होगा...गीत में भी सहेलियों की बाड़ी के नजारे दिखाई देते हैं।

सन 1983 में आई हॉलीवुड फिल्म आक्टोपुसी की शूटिंग उदयपुर में हुई। यह जेम्स बांड सीरिज की फिल्म थी। इसमें रोजर मूर थे। फिल्म की शूटिंग जगमंदिर पैलेस में हुई।  
 साल 1983 में शशि कपूर की एक फिल्म हिट एंड डस्ट को याद करें। यह एक विदेशी फिल्म थी। इसमें शशि के जूली क्रिस्टी थीं। इस फिल्म में लेक के आसपास के सुंदर नजारे हैं।

सन 1991 में आई रेखा और रजनीकांत की फिल्म फूल बने अंगारे की पूरी शूटिंग उदयपुर में हुई। केसी बोकाडिया की इस फिल्म में जल महल, दिल्ली गेट, स्वरूप सागर लेक, जगदीश मंदिर आदि के नजारे देखे जा सकते हैं।
साल 1992 में आई खुदा गवाह जो अमिताभ बच्चन और श्रीदेवी की फिल्म थी। इसकी शूटिंग उदयपुर और आसपास के अलावा अफगानिस्तान और नेपाल में की गई थी। यह एक बड़े बजट की भव्य फिल्म थी।

साल 2001 में सुभाष घई ने यादें बनाई। हालांकि ये फिल्म ज्यादा नहीं चल पाई थी। पर इसकी शूटिंग उदयपुर के अलावा विदेशों में मलेशिया और ब्रिटेन में की गई थी। फिल्म में करीना कपूर और ऋतिक रोशन थे।

साल 2006 में आई एक और हालीवुड फिल्म की शूटिंग उदयपुर में हुई। द फॉल के निर्देशक तरसेम सिंह थे। इसकी शूटिंग लेक पैलेस होटल में हुई। इसका विश्व भर में प्रदर्शन किया गया था। फिल्म ने अच्छी कमाई की थी। साल 2007 की फिल्म एकलव्य की शूटिंग उदयपुर के पास देवीगढ़ में हुई।यह विधु विनोद चोपड़ा की एक थ्रिलर फिल्म थी।

साल 2007 की एक और फिल्म धमाल में भी उदयपुर के नजारे देखने को मिले। इंद्र कुमार की यह मल्टी स्टारर कामेडी फिल्म थी। इसकी शूटिंग सज्जनगढ़ किला और बड़ी ताल में की गई।

द चीता गर्ल्स 2008 की फिल्म थी। डिज्नी द्वारा निर्मित इस फिल्म की कहानी में कुछ लड़कियों का दल भारत के दौरे पर आता है। इस फिल्म में दिल्ली गेट, दूध तलाई, सज्जनगढ़ के नजारे हैं।

और आगे बढ़ते हैं। साल 2013 में आई फिल्म ये जवानी है दीवानी में कुछ नजारे उदयपुर के हैं। इसमें रणबीर कपूर दीपिका पादुकोण के साथ उदयपुर के गणगौर घाट, बड़ी लेक, उदयविलास और सिटी पैलेस की शूटिंग है।     
दीपिका पादुकोण की 2013 की एक और फिल्म गोलियों की रासलीला रामलीला में उदयुपर के तमाम नजारे हैं। रणबीर सिंह की इस फिल्म में गणगौर घाट, हनुमान घाट, सिटी पैलेस आदि की शूटिंग है।
राजश्री प्रोडक्शंस द्वारा निर्मित साल 2015 में आई सलमान की प्रेम रतन धन पायो की शूटिंग फतेहगढ़, कुंभलगढ़ के किले और जगमंदिर पैलेस में हुई। तो उदयपुर के लोग हर साल अपने आसपास फिल्मी सितारों को देखते हैं।
साल 2016 की फिल्म मिर्जा में राकेश ओम प्रकाश मेहरा ने जोधपुर के नजारे फिल्माए। यह मिर्जा साहिबा की प्रेमकथा पर आधारित फिल्म थी।


अब बात साल 2018 की फिल्म धड़क की।  20 जुलाई 2018  को प्रदर्शित इस फिल्म में श्रीदेवी की बेटी जाह्नवी कपूर और इशांत खट्टर मुख्य भूमिका मे है। पूरी फिल्म उदयपुर के बैकड्राप में ही चलती है। आखिर फिल्मकारों को क्यों इतना लुभाता है उदयपुर। ये तो आप उदयपुर घूमें तो आप भी महसूस कर सकते हैं।

-        विद्युत प्रकाश मौर्य 
 ( UDAIPUR CITY AND HINDI FILMS, GUIDE, MERA SAYA, DHADAK ) 

No comments:

Post a Comment