Sunday, November 11, 2018

कुर्ग की होम मेड वाइन – और शाकाहारी भोजनालय


कुर्ग की प्रसिद्धि कॉफी के अलावा शराब के लिए भी है। जी हां होम मेड वाइन। ऐसी वाइन आपको यहां हर दुकान पर बिकती हुई मिल जाएगी। हालांकि मैं पीता नहीं इसलिए इसके बारे में आपको गहराई से नहीं बता सकता। पर दुकानों हमने अलग अलग तरह के फलों के नाम से बोतलें बिकती हुई देखीं। इन बोतलों की कीमत आमतौर पर 150 रुपये से लेकर 300 रुपये तक है। वाइल्ड चिली वाइन, ग्रेप वाइन,  पोमग्रेनेट वाइन, एप्पल वाइन, ग्वावा वाइन, पाइनएप्पल वाइन, गूज बेरी वाइन, कॉफी वाइन, पैसन फ्रूट वाइन जैसी किस्में मुझे यहां दुकानों पर डिस्प्ले में दिखाई देती हैं। 

जाहिर सी बात है इस तरह के शराब का उत्पादन यहां घर में किया जाता है। इनको बेचने के लिए कोई ब्रांडिंग या लाइसेंस प्रक्रिया की यहां जरूरत नहीं है। कुर्ग में यह गैरकानूनी भी नहीं है। क्योंकि हर दुकान पर यह खुलेआम बिकती है। तो इसके बारे में गहराई से प्रकाश तो वाइन के कद्रदां भी डाल सकेंगे।

कुर्ग में बड़ी संख्या में गुजराती और महाराष्ट्र के सैलानी परिवार के साथ घूमने आते हैं। इसलिए यहां पर कई शाकाहारी भोजनालय हैं। यहां पर आपको कर्नाटका थाली के अलावा गुजराती और महाराष्ट्रियन स्टाइल की थाली भी खाने को मिल जाएगी। मतलब यहां शाकाहारियों को कोई परेशानी नहीं है।

मैंने कुर्ग की हर शाम को अलग अलग शाकाहारी रेस्टोरेंट में खाने की थाली का स्वाद लिया। ज्यादातर रेस्टोरेंट बस स्टैंड के आसपास ही हैं। पहली रात का खाना उडुपी होटल में। शाकाहारी थाली 70 रुपये की है। थाली में चपाती, चावल, चार तरह की सब्जियां, दाल , दही, पापड़ आदि है। खाना अच्छा है। इस होटल में कुछ गुजराती लोग आए हुए हैं जो जैन फूड की तलाश कर रहे हैं। उन्हें बिना लहसुन प्याज वाला खाना चाहिए। उन्हें ऐसा भोजन यहां मिलने में दिक्कत आती है। फिर वे होटल के रसोइये से बात करके अपने लिए अलग से कुछ तैयार करवाते हैं। हालांकि उनको पूरी संतुष्टि नहीं मिल पाती है। फिर वे किसी और रेस्टोरेंट का रुख करते हैं।

अगले दिन पहुंचा हूं मैं अंबिका उपहार उडुपी होटल में। ये भी शाकाहारी मीनू वाला होटल है। इसका डायनिंग हॉल बड़ा है। सेवाएं अच्छी है। एक दोपहर में कुशल नगर में खाने का मौका मिला। एक औसत रेस्टोरेंट में50 रुपये की थाली है। भरपेट खाना 50 रुपये में। पर इस थाली में चावल है, चपाती नहीं है।

अगर आप मांसाहारी हैं तो यहां के रेस्टोरेंट में फिश करी और राइस का मजा लें। यह मेंगलोर स्टाइल में बनता है। इस तरह के कई रेस्टोरेंट कुशलनगर के आसपास हैं। कुर्ग में भी आप कई तरह के मांसाहारी व्यंजनों का स्वाद यहां के रेस्टोरेंट में ले सकते हैं। अगर आप कुर्ग की स्थानीय थाली का स्वाद लेना चाहते हैं तो यहां पर ऐसे भी रेस्टोरेंट मौजूद हैं।

कुर्ग में फल भी ज्यादा महंगे नहीं है। मुझे यहां अच्छे केले सस्ते भाव में मिल गए। भुट्टा और कच्चा आम भी इधर खूब मिलता है। यहां आप कई किस्म के होम मेड चाकलेट का भी मजा ले सकते हैं। चाहें तो चाकलेट खरीदकर ले भी जा सकते हैं। तो अब आगे चलें।
-        विद्युत प्रकाश मौर्य -vidyutp@gmail.com
(COORG, MADIKERI, FOOD, HOME MADE WINE  )