Tuesday, February 6, 2018

कोलकाता से आईजोल वाया सिलचर

कोलकाता के नेताजी सुभाष अंतरराष्ट्रीय विमानबंदर से सुबह 6.20 की उड़ान है मेरी सिलचर के लिए। तो घंटे पहले एयरपोर्ट पर रिपोर्ट करना है। अजय के दुर्गानगर आवास से एयरपोर्ट सिर्फ 3 किलोमीटर है। सुबह के 3 बजे मोबाइल के अलार्म से जग गया। इतनी सुबह ओला की तलाश की। कैब घर के पास पहुंच गई। 90 रुपये के बिल में एयरपोर्ट के अंदर। अभी तो काउंटर पर स्पाइसजेट का स्टाफ भी नहीं पहुंचा है। थोड़ी देर में हलचल हुई। मैंने बोर्डिंग पास लिया और अपने गेट पर जाकर इंतजार करने लगा। साढे पांच बजे के आसपास हमें बस में बिठाया गया। पर बस में क्यों कोलकाता में तो एयरब्रिज की सुविधा है।


दूर रनवे पर स्पाइस जेट का नन्हा विमान खडा था। अंदर जाने पर पता चला कि यह तो 80 सीटों वाला बाम्बार्डियर का विमान है। हर पंक्ति में 4 सीटें हैं। ए, बी, सी और डी। विमान को उड़ा रहे हैं कैप्टन प्रवीण विज, सह पायलट हैं हरमिंदर सिंह। एक घंटे की उड़ान है सिलचर की। संयोग से विमान में हिस्ट्री कांग्रेस में आए असम यूनी सिलचर के अलोक त्रिपाठी और करीमगंज के  प्रो राजदीप चंद से परिचय होता है। स्पाइस जेट का ये विमान कोलकाता से उड़ान भरने के बाद सिलचर फिर वहां से गुवाहाटी फिर ढिब्रूगढ़ जाता है। वहां से वापसी में फिर कोलकाता सीधा पहुंचता है।
कोलकाता से सिलचर अगर ट्रेन से आएं तो वाया न्यूजलपाईगुडी, गुवाहाटी, लमडिंग दूरी 1355 किमी से ज्यादा है। रास्ता 34 घंटे से ज्यादा का होगा। पर विमान बांग्लादेश के आसमान से उड़कर सिलचर पहुंच जाता है एक घंटे में। सिलचर दूसरी बार पहुंचा हूं। एयरपोर्ट से शहर 29 किलोमीटर है। छोटा सा एयरपोर्ट वायुसेना की संपत्ति है। अच्छी बात है कि एयरपोर्ट से शहर के लिए बस मिलती है। विमान में हमारी सहयात्री ने यह जानकारी दी थी। एसी बस का किराया 100 रुपये है।
सिलचर में सुबह सुबह धूप खिली है। बस समय पर चल पड़ी। हरे भरे खेतों वाले रास्ते से होकर हमलोग शहर पहुंचे। रास्ते में उधारबंद नामक छोटा सा शहर आता है। रंगपुर में बराक नदी का पुल पार करने के बाद ईंटखोला में कैपिटल चौराहा नजर आया। इन जगहों पर मैं अपनी मणिपुर से लौटती यात्रा में आया था। पर बस वाले मुझे सोनाई रोड जाने वाले चौराहे पर उतार देते हैं। वहां से आटो में बैठकर मैं मिजोरम हाउस पहुंच जाता हूं।
सिलचर मिजोरम और मणिपुर का प्रवेश द्वार है। मिजोरम के लिए सूमो सेवा कैपिटल प्वाइंट से और मिजोरम हाउस से मिलती है। मिजोरम हाउस सोनाई रोड पर स्थित है। मैं मिजोरम हाउस पहुंच गया हूं। यहां पर कई टैक्सी वालों के दफ्तर हैं। एक दफ्तर से टिकट बुक कराता हूं। बीच में विंडो सीट मिल जाती है। सिलचर से आईजोल का किराया है 400 रुपये प्रति सवारी।


आईजोल की ओर जाने वाली सूमो में 10 सीटें होती हैं। वे सीट भरने का इंतजार कर रहे हैं। इस बीच मैं थोड़ा नास्ता कर लेता हूं। पूरी सब्जी की प्लेट 20 रुपये की। सिलचर से मिजोरम की राजधानी आईजोल 190 किलोमीटर है। समय लग जाता है कोई सात घंटे। साढ़े नौ बजे के आसपास सूमो चल पड़ी आईजोल के लिए।
-        विद्युत प्रकाश मौर्य  
( MIZORAM, AIZAWL, SUMO, TAXI, SILCHAR )