Sunday, January 21, 2018

जन्नत जैसा सुंदर - अथुकड वाटर फॉल्स

अगर कोई मुझसे पूछे की मुन्नार में सबसे सुंदर जगह कौन सी लगी तो मेरा जवाब होगा अथुकड वाटर फाल्स। चाय के बगानों के बीच इस झरने की खूबसूरती घंटो निहारते रहिए पर यहां से जाने की इच्छा नहीं होती। हरे भरे चाय के बगानों के बीच श्वेत दूध सरीखे पत्थरों से टकराकर आगे बढ़ती जलराशि ऐसा सुमधुर संगीत सुनाती है कि मन इन वादियों में गहरे में जाकर रम जाता है।
गहरी घाटी में स्थित यह झरना मुन्नार से 8 किलोमीटर दूर कोच्चि रोड पर स्थित है। अथुकड फॉल्य मुन्नार का एक प्रमुख पर्यटक स्थल है। मानसून के दिनों में (जुलाई-अगस्त) इसकी सुंदरता और भी बढ़ जाती है। इस झरने के अलावा भी इस रास्ते में दो और झरने भी हैं-चीयापरा फॉल्स और वलार फॉल्स।

अथुकड वाटर फाल मुन्नार से कोचीन के रास्ते पर स्थित है। मुन्नार से चलकर पालीवासल में कुछ किलोमीटर आगे बढ़ने पर बायीं तरफ चाय के बगानों के बीच एक रास्ता जाता है। इस रास्ते पर टाटा टी के पैकिंग सेंटर का विशाल दफ्तर दिखाई देता है। रास्ते में सारी संपत्ति टाटा टी एस्टेट की है। पतले ऊंचे नीचे पहाड़ी रास्तों पर चलते हुए दूर से ही हमें पहाड़ों के बीच बहते झरने की आवाज सुनाई देने लगती है। आटो वाले हमें एक पुल पर ले जाकर रोक देते हैं। वे हमें कहते हैं आप यहां जितना वक्त चाहे लगाएं मैं आटो पार्क करके खड़ा रहूंगा। इस पुल से झरने की विहंगम नजारा दिखाई देता है।

तो हमलोग काफी देर तक झरने का नजारा लेने के बाद आगे बढ़ते हैं। झरने के बगल में एक छोटा सा घर है। इस घर में एक कैंटीन चलती है। यहां आप आर्डर करके कुछ बनवा सकता है। मैगी खाने का आर्डर हमलोग कर देते हैं। बारिश ने ठंड और बढ़ा दी है तो मैगी चलेगी। तो हमलोग मैगी के इंतजार में अथुकड झरने के साथ कुछ और तस्वीरें लेते हैं। हमारे अलावा दो चार और लोग ही यहां पर आए हुए हैं। मैगी खाने और चाय पीने के बाद हमलोग अगली मंजिल के लिए प्रस्थान कर जाते हैं।

अथुकड आपको जंगलों में ट्रैकिंग का भी मौका उपलब्ध कराता है। अगर मौका हो तो ट्रैकिंग के लिए जाइए। पर अथुकड के वाटर फाल में नहाने के लिए अंदर घुसने की कोशिश हरगिज मत किजिए। यह झरना देखने में सुंदर है पर नहाने के लिए खतरनाक है। पानी की धारा इतनी तेज होती है कि तैरने वालों को बहा ले जाती है। इसलिए सिर्फ नजारे लेने भर के लिए ही यह अच्छा है। हालांकि अक्तूबर महीने में भी इस झरने में अथाह जलराशि विशाल पत्थरों के संग लगातार अठखेलियां करती हुई आगे बढ़ रही है। बारिश के दिनों में यहां जल धारा और तेज हो जाती है। वैसे यहां आप सर्दियों में भी आएं तो भी झरने में पानी मिलेगा।
अब अथुकड के कुछ किलोमीटर के दायरे में कुछ रिजार्ट भी बन गए हैं। जहां रहते हुए इन झरनों का नजारा किया जा सकता है और ट्रैक करते हुए यहां तक पहुंचा जा सकता है।
- vidyutp@gmail.com
(ATTUKAD WATER FALLS, MUNNAR, TATA TEA ESTATE  )