Sunday, January 14, 2018

मुन्नार - जम कर खाइए और घूम-घूम कर पचाइए

अगर आप शाकाहारी हैं तो मुन्नार में आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। मुन्नार में आपको हर तरह की शाकाहारी भोजन की थाली मिल जाएगी। यहां तक कि उत्तर भारतीय मारवाड़ी और जैन थाली भी मिल जाएगी। बस थोड़ी अधिक कीमत चुकानी पड़ेगी।
वैसे मुन्नार के सबसे लोकप्रिय फूड जंक्शन की बात करें तो वह है सरवन भवन। हालांकि ये सरवन भवन चेन्नई वाले सरवन भवन की शाखा नहीं है। पर यह मुन्नार का सबसे ज्यादा चलता हुआ और वाजिब दरों पर खाना परोसने वाला रेस्टोरेंट है। यह सुबह से शाम तक लगातार खाना परोसता है। केले के पत्ते पर डोसा, इडली, उत्तम के अलावा बिरयानी और कई तरह के व्यंजन। अनादि यहां पर कई बार चाउमीन खाते रहे। पर सबसे सस्ता है यहां पर पराठा खाना। पर ये पराठा दक्षिण भारतीय होता है।
मतलब मैदे का पराठा और साथ में चूरमा। यानी रसेदार सब्जी। पर आप मुन्नार में इससे भी सस्ता पराठा खा सकते हैं। मुख्य बाजार में स्ट्रीट फूड वाले स्टाल पर। यहां स्थानीय खाने वालों की भीड़ खूब उमड़ती है। बाकी मुन्नार में मांसाहारी भोजनालय खूब हैं।

पर हम कुछ और शाकाहारी पेटपूजा वाले स्थलों की बात करेंगे। मुख्य बाजार में बस स्टैंड के पास एक बेकरी है जहां पर आप पेस्ट्री, समेत कई तरह के नमकीन का स्वाद ले सकते हैं। राजस्थानी स्वाद वाले शाकाहारी भोजन के लिए पुरोहित भोजनालय पहुंचिए। यहां सुबह नास्ते में पराठा भी मिल जाएगा। थाली थोड़ी महंगी है। पर दक्षिण भारत के हिल स्टेशन में पहुंच कर उत्तर भारतीय खाने की तलाश करेंगे तो थोड़ी जेब तो ढीली करनी पडेगी।

दरअसल यहां उत्तर भारतीय रसोईया को लाकर काम लेना महंगा पड़ता है। पंजाबी थाली, राजस्थानी थाली, गुजराती थाली, बांबे थाली आदि सब मिल जाएगा। 190 रुपये से 300 रुपये के रेंज में जाकर। एक और विकल्प है श्री महावीर भोजनालय का।  हमलोगों ने कई बार महावीर भोजनालय का रुख किया। यह मुन्नार का एक औ चलता हुआ रेस्टोरेंट है। इससे थोड़ा आगे बढ़े तो संगीता रेस्टोरेंट भी शाकाहारी विकल्प के तौर पर आपका स्वागत करता है।

पर मुन्नार में रोज सुबह के नास्ते में मेरी पसंद बना रहा है पुट्टु.दक्षिण भारतीय चावल का बना यह डिश गरम खाने में काफी अच्छा लगता है। अनाई रेस्टोरेंट में हम रोज यही खाते रहे। माधवी मसाला डोसा पसंद करती हैं तो अनादि को अब दक्षिण के बड़ा खूब पसंद आने लगा है। पहले वह मैसूर भाजी पसंद करते थे।तो खाने पीने की बहुत बात हो गई चलिए अब घूमने चलते हैं।

-        विद्युत प्रकाश मौर्य  ( SARAVANA BHAWAN, MUNNAR, PUROHIT VEG, MAHAVEER BHOJNALYA )