Monday, December 11, 2017

दक्षिण गोवा का अदभुत दामोदर मंदिर

आज भले ही गोवा को चर्चों के लिए जाना जाता हो पर किसी जमाने में गोवा में सैकड़ों मंदिर हुआ करते थे। आज भी गोवा के ग्रामीण इलाकों में कई सुंदर मंदिरों के दर्शन किए जा सकते हैं। इनमें से प्रमुख है जांबावली स्थित दामोदर मंदिर। दामोदर मतलब महादेव शिव का मंदिर।

मंदिर परिसर बड़ा ही भव्य और खूबसूरत है। मंदिर में शिव के अलावा रामनाथ, महेश, चामुंडेश्वरी और महाकाली की प्रतिमाएं हैं। मंदिर के श्रद्धालु ज्यादातर गौड़ सारस्वत ब्राह्मण परिवार के लोग हैं। देस भर में फैले हुए गौड़ सारस्वत ब्राह्मण लोग दामोदर मंदिर के दर्शन के लिए आते हैं और मंदिर को सालों भर दान भी भेजते हैं। अपने बनावट और वास्तुकला के लिहाज से यह गोवा के सुंदरतम मंदिरों में गिना जाता है।

कभी मडगांव में था दामोदर मंदिर - यह वास्तव में गोवा के अति प्राचीन दामोदर मंदिर का पुनर्निर्माण है। कहा जाता है कि दामोदर मंदिर मूल रूप से मडगांव में वहां स्थित था जहां आजकल होली स्पिरिट चर्च है। गोवा में पुर्तगाली शासन आरंभ होने के बाद पुर्तगालियों द्वारा बड़ी संख्या में मंदिरों को नष्ट करने का उपक्रम चलाया गया। साथ ही हिंदू आबादी को उनके पर्व त्योहार मनाने और पूजा पाठ करने पर भी बंदिशें लगा दी गईं। 1565 ई में दामोदर मंदिर को भी ध्वस्त करके वहां चर्च का निर्माण करा दिया गया।

बाद में हिंदू श्रद्धालुओं ने दामोदर मंदिर का निर्माण जांबावली (जांबोलियम) गांव  में कराया। इस मंदिर का परिसर भी भव्य है। यह मंदिर कुशावती नदी के तट पर बना हुआ  है। बड़ी संख्या में श्रद्धालु कुशावती नदी में स्नान करने के बाद दामोदर देव के दर्शन करते हैं। गोवा के हिंदुओं में कुशावती नदी को रोग दुख दूर करने वाला माना गया है।


जांबावली मंदिर परिसर के पास कुछ दुकानें और एक भोजनालय भी है। मंदिर की ओर से अतिथि आवास का भी निर्माण कराया गया है। महाशिवरात्रि और खास खास मौकों पर मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती है।

मंदिर खुलने का समय - दामोदर मंदिर सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक खुला रहता है। 

कैसे पहुंचे - दामोदर मंदिर मडगांव से 22 किलोमीटर दूर और उपनगर क्वेपे से 5 किलोमीटर आगे जांबावली गांव में स्थित है। मडगांव से निजी वाहन से यहां सुगमता पहुंचा जा सकता है। हालांकि क्वेपे से कुछ बसें भी चलती हैं। पर उनका समय काफी अंतराल पर है।
- vidyutp@gmail.com
(DAMODAR TEMPLE, SOUTH GOA, SHIVA )