Thursday, September 7, 2017

ये है दुनिया की सबसे तीखी मिर्ची - खाओ तो जानें

तुझे मिर्ची लगी क्या...भले ही कहावत या गीत हो पर मिर्ची तो तीखी लगती ही है। पर कुछ मिर्ची ऐसी भी हैं जो काफी तीखी लगती हैं। तो दुनिया में सबसे तीखी मिर्ची कौन सी है... किंग चीली। नाम से ही लगता है तीखी तो होगी।

तीखेपन के कई नाम - तो हम बात कर रहे हैं दुनिया की सबसे तीखी मिर्ची की। इसे लोग किंग चीली भी कहते हैं। इसकी खेती होती है नागालैंड में। पड़ोसी राज्य, असम, मणिपुर, मिजोरम और बांग्लादेश के भी कई हिस्सों में इसकी खेती होती है। इसे भूत जोलोकिया (अंगरेजी में घोस्ट पीपर) या नागा जोलोकिया नाम से भी जानते हैं। वहीं बांग्लादेश के लोग इसे नागा मोरिच कहते हैं।

गिनिज बुक में दर्ज है नाम - जो समान्य मिर्ची आप खाते हैं न उससे कई गुना ज्यादा तीखी होती है ये मिर्ची। तो कभी ये मिर्ची घर में लेकर आ गए न तो पूरी एक साबूत मिर्ची एक बार की सब्जी में डालने की गलती मत कर बैठिएगा। साल 2007 में गिनिज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड्स में भी भूत जोलोकिया विश्व की सबसे तीखी मिर्ची घोषित किया गया। नागालैंड वाले इसे राजा मिर्चा या राजा मोरिच भी कहते हैं। भाई राजा तो है ही ना। तो इसका वनस्पति विज्ञान में नाम कैपसिकम चीनेंस है।


नागालैंड की पहचान - मूल रूप से इसकी खेती का स्थल नागालैंड ही है। नागालैंड सरकार को इस मिर्ची के लिए 2008 में जीआई मतलब ज्योग्राफिकल इंडेक्स प्राप्त हुआ। असम का तेजपुर इलाका और नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम का इलाका भूत जोलोकिया की खेती के लिए मुफीद है। इसी मिर्च की खेती ग्वालियर इलाके में की गई तो इतना तीखापन उसमें नहीं आया। भूत जोलोकिया बहुत नाजुक फसल है। यह ज्यादा बारिश में खराब हो जाती है, बिल्कुल बारिश न हो तो भी सूख जाती है।  
पक जाने के बाद भूत जोलोकिया का आकार 6 से 8 सेंटीमीटर का होता है। अक्सर यह पकने पर लाल रंग की होती है, पर कभी कभी संतरा और चाकलेट के रंग की भी दिखाई देती है।
नागालैंड की भूत जोलोकिया 

कई इस्तेमाल, हथियार भी -  भूत जोलोकिया को कच्चा और सूखे हुए या फिर पाउडर के रूप में इस्तेमाल में लाया जाता है। यह नागा व्यंजन का जरूरी हिस्सा है। करी, चटनी और सब्जियों का स्वाद बढ़ाने के लिए इस्तेमाल होता है। नागा रेसिपी में पोर्क, सूखी मछली आदि में भी इसका इस्तेमाल होता है।
साल 2009 में डीआरडीओ ने भूत जोलोकिया के हैंड ग्रेनेड में इस्तेमाल पर विचार किया। वहीं साल 2016 में पैलेट गन में भी इसके इस्तेमाल के प्रस्ताव पर विचार किया गया, जिससे कि उग्रवादियों को तुरंत तितर-बितर किया जा सके।

मिजोरम की किंग चीली 
ज्यादा खाए तो टपके - एक नागा लोककथा में दो दोस्तों में भूत जोलोकिया खाने का मुकाबला हुआ। एक दोस्त अपने वादे के मुताबिक उतनी मिर्ची खा तो गया पर शर्त जीतने के बाद वह जीवित नहीं बचा। आजकल कुछ नागा लोग 3 से 7 भूत जोलोकिया खा जाने की क्षमता रखते हैं। पर जिन्हें मिर्ची लगती है वे तो इसके नाम से ही डर जाते हैं।

नागालैंड की राजधानी कोहिमा के सब्जी बाजारों में इसे देखा था। पर दिल्ली में लगे नार्थ इस्ट फेस्टिवल में नागालैंड, मणिपुर और असम के कई स्टाल पर भूत जोलोकिया के दर्शन एक बार फिर हुए। कुछ मिर्ची का पैकेट 100 रुपये में बिक रहा था। मैं मिर्ची कम खाता हूं तो मैं तो इसे खरीदने और स्वाद लेने का साहस ही नहीं कर पाया। 
      - vidyutp@gmail.com


( KING CHILLI, GHOST PEEPER, BHOOT JOLKOKIA, KING NAGA, NAGA MORICH, CAPSICUM CHINENSE,  MIZORAM, NAGALAND, NORTH EAST, WORLD HOTTEST CHILLI