Tuesday, August 22, 2017

फन वैली में थोड़ी सी मौज मस्ती

फन वैली रिजार्ट। यानी थोड़ी देर की मौज मस्ती। देहरादून से कई किलोमीटर पहले हरिद्वार देहरादून मार्ग पर दाहिनी तरफ फन वैली रिजार्ट बना है। चेन्नई और बेंगलुरू में ऐसे वाटर पार्क का हमलोग खूब मजा ले चुके हैं। हरिद्वार मसूरी बस पैकेज में फन वैली रिजार्ट पहला पड़ाव होता है। यहां पर बस वाले एक घंटे का समय देते हैं। यह फन वैली की मौज मस्ती के लिहाज से बहुत कम है। वैसे तो फन वैली का दिन भर का टिकट 700 रुपये का है। पर बस वालों से एक घंटे के लिए लिए जाते हैं 210 रुपये। इसमें 40 रुपये कमीशन के तौर पर बस वाले की जेब में जाता है।

हमलोग फन वैली का टिकट लेने उसके काउंटर पर पहुंचते हैं। पर यहां क्रेडिट कार्ड से भुगतान करने पर 2 फीसदी अतिरिक्त की मांग की जाती है। मैं यह राशि देने से साफ इनकार करता हूं। मैं उन्हें कहता हूं देश की मोदी सरकार डिजिटल इंडिया को प्रोत्साहन दे रही है और आप केशलेस लेने पर अतिरिक्त वसूली कर रहे हैं। थोड़ी बकझक के बाद वे 2 फीसदी के बिना भुगतान लेने पर तैयार हो जाते हैं।   
हमलोग फनवैली के अंदर प्रवेश करते हैं। लगातार हल्की बारिश का दौर है। इस बारिश में सभी बिजली से चलने वाले झूले बंद कर दिए गए हैं। ऐसा सुरक्षा कारणों से किया गया है। उनमें बारिश में करंट आने का अंदेशा रहता है।

हमलोग फनवैली के अंदर प्रवेश करते हैं। लगातार हल्की बारिश का दौर है। इस बारिश में सभी बिजली से चलने वाले झूले बंद कर दिए गए हैं। ऐसा सुरक्षा कारणों से किया गया है। उनमें बारिश में करंट आने का अंदेशा रहता है।

अब बचा है वाटर पार्क का मजा लेना। तो उसके लिए स्विमिंग कास्ट्यूम किराये पर लेना जरूरी है। तो अनादि के लिए कास्ट्यूम किराए पर लिए गए। इसके बाद वे कूद पड़े स्विमिंग पुल में। हल्की बारिश लगातार जारी थी। यानी नीचे भी पानी और ऊपर से भी बरसता पानी। इन सबके बीछ छई छई छपाक छई। पार्श्व में बजते संगीत के बीच अनादि को पानी के इस खेल में पूरा मजा आ रहा था। एक बाद दूसरा दूसरे के बाद तीसरा। पर उनका तो मन ही नहीं भर रहा था। हालांकि वे चेन्नई और बंगलूरु में वाटर पार्क का खूब मजा ले चुके थे। पर वे खूब धमचौकड़ी मचाते रहे।

फन वैली के वाटर गेम्स अच्छे हैं। यहां विविधता है। पर हमारे पास समय था केवल एक घंटे। और ये एक घंटे कितनी तेजी से पूरे हो गए पता भी नहीं चला। बहुत सारे गेम्स और झूले तो बाकी ही रह गए।खैर हमारी गाड़ी बुला रही थी। इसलिए ये फिर कभी सही। कहते हुए हमलोग बाहर निकले। बस के बाकी यात्री भी पहुंच चुके थे, और आगे का सफर शुरू हो गया। 
- vidyutp@gmail.com
( FUN VALLEY, DEHRADUN, WATER PARK )