Monday, February 15, 2016

शिलांग का ब्रह्म समाज और विधानसभा भवन


सुबह-सुबह पुलिस बाजार पहुंचने के बाद मैंने जानना चाहा आसपास में क्या देखा जा सकता है। इससे पहले मुझे चौराहे पर एक तरफ ऐतिहासिक ब्रह्म समाज का भवन और उसका गेस्ट हाउस नजर आया।  तो इसके बारे में  भी जान   लेते  हैं थोड़ा सा। 


शिलांग में  ब्रह्म समाज की स्थापना 1894 में हुई थी। ऐसा इसका साइन बोर्ड बता रहा है। इस भवन में एक गेस्ट हाउस भी है। साथ ही यहां रविंद्र नाथ टैगोर की याद में टैगोर मेमोरियल लाइब्रेरी भी दिखाई दे रही है। दरअसल शिलांग कभी पूरे   असम की राजधानी हुआ करती थी।   ब्रिटिश काल में यह बुद्धिजिवियों का बड़ा केंद्र रहा  है। ब्रह्म समाज से ज्यादातर पढ़े लिखे बुद्धिजीवी लोग जुड़े थे इसलिए यहां का केंद्र भी पुराना है। 


 ब्रह्म समाज के ठीक दूसरी तरफ पुलिस बाजार चौराहे पर मेघालय की विधानसभा का नन्हा सा सुंदर भवन दिखाई देता है। विधानसभा भवन से जुड़ा उसका प्रशासनिक ब्लाक और उसकी लाइब्रेरी भी है। विधानसभा भवन के गेट पर उसका एक चौकीदार तैनात है। किसी जमाने में मेघालय का विधानसभा भवन लकड़ी का हुआ करता था पर उसमें आग लग गई।


उसके बाद नया भवन बनाया गया।  पर इस नए भवन  में भी लकड़ी का काफी काम है।  मेघालय विधानसभा में कुल 60 सदस्य हैं। इसलिए  यहां  ज्यादा विशाल भवन की कोई जरूरत नहीं है। मेघालय 21 जनवरी 1972 को असम से अलग होकर राज्य बना था।  इसके बाद यहां विधानसभा का निर्माण हुआ।    मेघालय की विधानसभा भवन  से लगा हुआ एक सुंदर चर्च भी है। 


सन 1972 में विलियमसन ए संगमा राज्य के  पहले मुख्यमंत्री बनाए गए थे। उसके बाद डीडी पुग  और बीबी लिंगदोह ने राज्य की कमान संभाली। विलियमन संगमा आगे दो बार और राज्य के मुख्यमंत्री बने। इसके बाद पीए संगमा,  डीडी लपांग,  एससी मार्क,  इके मावलांग जैसे लोगों को राज्य के नेतृत्व का मौका मिला।


विधानसभा भवन के  एक हिस्सा में मुझे   इसकी लाइब्रेरी बिल्डिंग दिखाई देती है।  यह जन सेवकों  भी लगातार पढ़ते लिखते रहने की प्रेरणा देती है।   नन्हें से विधान सभा  भवन की   बाहर हमारा तिरंगा शान से लहरा रहा है। साल 2019 में  मेघालय में नए विधानसभा भवन का निर्माण शुरू किया गया है।  तो अब  चलते हैं आगे  पार्कों की सैर करने। 
- विद्युत प्रकाश मौर्य - vidyutp@gmail.com 
( MEGHALAYA  BRAHMO SAMAJ,  ASSEMBLY, SHILLONG )


No comments:

Post a Comment