Thursday, December 3, 2015

तमिलनाडु में हिंदी विरोध की दरकती दीवार

चेन्नई और आसपास  के शहरों में घूमते हुए कहीं भी हिंदी विरोध का आभास नहीं हुआ। कई दिनों के तमिलनाडु प्रवास के दौरान जगह जगह तमाम तमिल लोगों से संवाद करने का मौका मिला। ज्यादातर लोग हिंदी समझ लेते हैं। जवाब देने की भी कोशिश करते हैं। चेन्नई शहर के बस वाले आटो वाले हिंदी में उत्तर दे देते हैं। दक्षिण में कर्नाटक केरल और तमिलनाडु की भाषाएं द्रविड समूह की होने के कारण हिंदी से थोड़ी ज्यादा दूर हैं। पर कर्नाटक और केरल में त्रिभाषा फार्मूला के तहत हिंदी पढ़ाई  जाती है। पर तमिलनाडु में हिंदी का विरोध आजादी के आंदोलन के समय से ही है। लिहाजा वहां स्कूली पाठ्यक्रम में हिंदी नहीं है। पर नई पीढ़ी के लोग टीवी पर सिनेमा में हिंदी सुन रहे हैं।

इस बार हम चेन्नई के जिन होटलों में ठहरे वहां केबल नेटवर्क में हिंदी के समाचार चैनल दिखाई दे रहे थे। हमने वहां आजतक से लेकर न्यूज 24 तक चैनल देखे। न सिर्फ डीटीएच बल्कि केबल नेटवर्क में भी हिंदी चैनल शामिल हैं। होटल के रिसेप्सशन वाले हिंदी समझ लेते हैं। वालटेक्स रोड और पेरियामेट के होटलों के साइन बोर्ड पर भी कहीं कहीं हिंदी लिखा हुआ दिखाई देता है। वैसे साइन बोर्ड की बात करें तो रेलवे स्टेशनों के नाम में हर जगह तमिलनाडु में हिंदी अंग्रेजी और तमिल एक साथ दिखाई देता है। बैंक पोस्ट आफिस और भारत सरकार के दूसरे दफ्तरों के साइन बोर्ड हिंदी में दिखाई देते हैं। चेन्नई के लोकल रेल में आने वाले स्टेशनों की सूचना हिंदी, अंगरेजी और तमिल में हो रही है। मुझे लगता है कि अगर हिंदी का प्रबल विरोध होता तो लोग इन साइन बोर्ड और उदघोषणाओं का भी विरोध करते। तमिल में रेलवे स्टेशन को रेल निलयम कहते हैं। यह बड़ा ही कर्णप्रिय लगता है।

इस बार तो चेन्नई में डीएमके के नेता दयानिधि मारन के चुनावी पोस्टर भी हिंदी में छापे गए थे। ऐसा चेन्नई में हिंदी बहुल इलाके के लोगों को लुभाने के लिए किया गया था। वैसे डीएमके और एआईडीएमके दोनों का हिंदी विरोध का इतिहास रहा है। पर अब ये दीवार कमजोर होती दिखाई देती है। भले स्कूलों में हिंदी नहीं पढ़ाई जाती हो पर बड़ी संख्या में तमिल अभिभावक यह महसूस कर रहे हैं कि अच्छी नौकरियां पाने के लिए तमिल, अंग्रेजी के साथ हिंदी जानना भी जरूरी है। लिहाजा वे अपने बच्चों को अलग से हिंदी पढ़ा रहे हैं।

लोग दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा से हिंदी सीखने का कोर्स करते हैं। सभा की रजिस्ट्रार डॉक्टर निर्मला मौर्य दक्षिण में हिंदी सीखने की ललक को उत्साहजनक मानती हैं। मैं अक्सर स्टेजिला डाट काम से होटल बुक करता हूं। इसका मुख्यालय चेन्नई में है। कई बार इसके काल सेंटर से फोन आता है। इसके एग्जक्यूटिव वैसे तो चेन्नई के रहने वाले हैं। पर वे अच्छी हिंदी में संवाद करते हैं। देश भर के लोगों से वार्ता करने के लिए इस वेबसाइट ने हिंदी जानने वाले कर्मचारी रखे हैं। इसी तरह सिटी बैंक रायल सुंदरम बीमा कंपनी के चेन्नई काल सेंटर में हिंदी जानने वाले कर्मचारी हैं। चेन्नई से कांचीपुरम के ट्रेन में मिले सुब्रमन्यम और विलूपुरम से वेल्लोर के बीच मिले सरवनन अच्छी हिंदी बोल और समझ रहे थे। इससे पूर्व की यात्रा में मैंने पाया था कि तमिलनाडु के शहर ऊटी, कोयंबटूर, मदुरै, रामेश्वरम और कन्याकुमारी में भी लोग हिंदी समझते हैं। कन्याकुमारी में तो आटोवाले ने मुझे सुनाया था – ये कन्याकुमारी है बाबू यहां चाय भी सात रुपये की मिलती है।

चेन्नई से राजस्थान पत्रिका के अलावा निष्पक्ष दक्षिण भारत राष्ट्रमत जैसे हिंदी समाचार पत्र का संस्करण प्रकाशित होता है। निष्पक्ष दक्षिण भारत का दावा है कि उसके अखबार को हिंदी भाषियों के अलावा तमिल लोग भी पढ़ते हैं। उम्मीद है कि आने वाले दिनों में कुछ और समाचार पत्रों के हिंदी संस्करणों का संपादन होगा। हाल में खबर आई है कि बाहुबली के स्टार प्रभाष मुंबई की फिल्मों में काम पाने के लिए हिंदी सीख रहे हैं। कमल हासन और मणिरत्नम तो हिंदी फिल्में बनाते ही हैं। तो ये भाषायी मेल मिलाप और बढ़ना चाहिए। अब हम तमिल भाइयों पर हिंदी थोपने की गलती न करें। इसे स्वाभाविक तौर पर आगे बढ़ने दें। जिस तरह से तमिल भाइयों को उत्तर भारत का खाना पसंद आने लगा है वैसे बोली के स्तर पर भी सामंजस्य बढ़ेगा। भाषाई दीवारें दरकेंगी और एक दिन हिंदी तमिल भाई भाई का नारा लगेगा।

-         विद्युत प्रकाश मौर्य



3 comments:

  1. wa bahut hi accha lekh hain
    me hindi samrthak hu kyoki hindi hamari matrabhasha hain
    aap bhi visit kare mere hindi blog par
    www.ictipshindi.blogspot.com

    ReplyDelete
  2. We are urgently in need of kidney donors in Kokilaben Hospital India for the sum of $500,000,00, (3 CRORE INDIA RUPEES) All donors are to reply via Email only: hospitalcarecenter@gmail.com or Email: kokilabendhirubhaihospital@gmail.com
    WhatsApp +91 7795833215
    --------------------------------------------------------------------

    हमें कॉकैलेबेन अस्पताल के भारत में 500,000,000 डॉलर (3 करोड़ रुपये) की राशि के लिए गुर्दे के दाताओं की तत्काल आवश्यकता है, सभी दाताओं को केवल ईमेल के माध्यम से उत्तर देना होगा: hospitalcarecenter@gmail.com या ईमेल: kokilabendhirubhaihospital@gmail.com
    व्हाट्सएप +91 7795833215

    ReplyDelete

  3. I was searching for loan to sort out my bills& debts, then i saw comments about Blank ATM Credit Card that can be hacked to withdraw money from any ATM machines around you . I doubted thus but decided to give it a try by contacting {blankatm156@gmail.com} they responded with their guidelines on how the card works. I was assured that the card can withdraw $5,000 instant per day & was credited with $50,000 so i requested for one & paid the delivery fee to obtain the card, after 24 hours later, i was shock to see the UPS agent in my resident with a parcel{card} i signed and went back inside and confirmed the card work's after the agent left. This is no doubts because i have the card & has made used of the card. This hackers are USA based hackers set out to help people with financial freedom!! Contact these email if you wants to get rich with this Via: blankatm156@gmail.com

    ReplyDelete