Monday, October 26, 2015

क्यों 16 अगस्त है पुडुचेरी का स्वतंत्रता दिवस

हमलोग पुडुचेरी पहुंच चुके हैं, तो थोड़ी सी जानकारी इस  नन्हें से राज्य के बारे में। भारत देश को आजादी 15 अगस्त 1947 को मिली, पर देश कई हिस्से हैं जो बाद में भारतीय गणराज्य का अंग बने। इसमें पुडुचेरी, गोवा, दादरा नगर हवेली, सिक्किम खास तौर पर शामिल हैं। बाद पुडचेरी की करें तो यह कई सौ सालों से फ्रांसिसी उपनिवेश हुआ करता था। तमिलनाडु से लगा हुआ छोटा सा खूबसूरत समुद्रतटीय राज्य औपचारिक रुप से 16 अगस्त 1962 को भारतीय गणराज्य का हिस्सा बना। इसलिए पुडुचेरी अपना स्वतंत्रता दिवस 16 अगस्त को मनाता है।

स्वतंत्रता के बाद  प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु फ्रेंच उपनिवेश वाले हिस्सों को भारत में मिलाने की कोशिश में लगे थे। इसी सिलसिले में पुडुचेरी को भारतीय गणराज्य में शामिल करने की कोशिश 1948 में आरंभ हो गई थी। जून 1948 में फ्रांस के साथ भारत का एक समझौता हुआ जिसमें पुडुचेरी के लोग कहां रहना चाहते हैं इसके लिए एक जनमत संग्रह कराने का प्रस्ताव रखा गया। बाद में वी सुब्बैया के नेतृत्व में पुडुचेरी में एक स्वतंत्रता आंदोलन शुरू हुआ। सुब्बैया पहले फ्रांस समर्थक थे लेकिन बाद में उन्होंने भारत में मिलने की इच्छा जताई।

PUDUCHERY - RAILWAY STATION
पुडुचेरी की ज्यादातर आबादी भारत में मिलने की इच्छा रखती थी। 1954 में काफी लोगों ने आवाज उठाई और बिना किसी जनमत संग्रह के ही भारत में मिलने का प्रस्ताव रखा। एक नवंबर 1954 को एक जनमत संग्रह कराया गया जिसमें पुडुचेरी, कराईकल, माहे और येनम के कुल 181 पार्षदों में से 174 ने अपना मत भारत में शामिल होने के पक्ष में दिया। सात पार्षदों ने इस रायशुमारी में हिस्सा नहीं लिया था। व्यवहारिक रुप से इस तारीख से ही पुडुचेरी भारतीय गणराज्य का हिस्सा बन गया। 

मई 1956 में भारत और फ्रांस के बीच पुडुचेरी को लेकर एक समझौता हुआ। पर फ्रांस की संसद में मई 1962 में पुडुचेरी की सत्ता भारत को औपचारिक रुप से स्थानांतरित करने का प्रस्ताव पास किया गया। 16 अगस्त 1962 भारत और फ्रांस के बीच पुडुचेरी का औपचारिक सत्ता हस्तांतरण कार्य संपन्न हुआ। इसलिए हर साल पुडुचेरी में 16 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस का सरकारी तौर पर औपचारिक आयोजन किया जाता है।

ऋषि अगस्त्य की भूमि है पुडुचेरी  - तमिलनाडु के पास नन्हा सा राज्य पुडुचेरी या पांडिचेरी महान ऋषि अगस्त्य की भूमि मानी जाती है। वही अगस्त्य मुनि जो समुद्र को पी गए थे। जिन्होंने संसार की श्रेष्ठ भाषा तमिल का आविष्कार किया। हालांकि पुडुचेरी केंद्र शासित प्रदेश है। पर यहां दिल्ली की तरह विधान सभा चुनाव कराए जाते हैं दिल्ली की तरह। पुडुचेरी का विस्तार कुल 479 वर्ग किलोमीटर में है। साल 2011 की जनगणना में पुडुचेरी की आबादी 12.48 लाख थी।
- विद्युत प्रकाश मौर्य -vidyutp@gmail.com 
        ( AGASTYA MUNI , PUDUCHERRY, CHENNAI, FRENCH COLONY, 16 AUGUST ) 

No comments:

Post a Comment