Monday, July 20, 2015

तुझसे मिलना पुरानी दिल्ली में – दिल्ली जंक्शन



दिल्ली जंक्शन मतलब पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन बनने से पहले दिल्ली जंक्शन ही दिल्ली का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन हुआ करता था। कुल प्लेटफार्म संख्या में यह आज भी दिल्ली का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन है। पर नई दिल्ली जंक्शन बनने के बाद आम बोलचाल में लोग इसे पुरानी दिल्ली कहने लगे हैं।

सन 1864 में आई पहली रेलगाड़ी
पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन की शुरुआत 1864 में हुई थी। हावड़ा की तरफ से पहली रेल यहां इसी साल आई थी। तब यह स्टेशन इतना भव्य नहीं था। दिल्ली जंक्शन का स्टेशन कोड डीएलआई है। इस रेलवे स्टेशन पर कुल 18 प्लेटफार्म हैं। इनमें से कई प्लेटफार्म दो हिस्से में बंटे हुए हैं। यानी पूरब की तरफ का नंबर दूसरा है तो पश्चिम की तरफ का नंबर अलग है। यहां से करीब 250 रेलगाड़ियां हर रोज खुलती हैं।

1903 की है स्टेशन की इमारत
दिल्ली जंक्शन रेलवे स्टेशन का भवन बाहर से काफी भव्य दिखाई देता है। इसकी मुख्य बिल्डिंग लाल रंग की बनी हुई है। यह इमारत ब्रिटिश कालीन है। इसका निर्माण 1900 में शुरू होकर 1903 में पूरा हुआ था। इसका डिजाइन लालकिला से प्रभावित है। इस भवन को देश के प्रमुख खूबसूरत रेलवे स्टेशन भवन में शामिल किया जाता है। मुख्य भवन के दूसरी तरफ दिल्ली की बहुत पुरानी दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी की बिल्डिंग है। किसी जमाने में  दिल्ली रेलवे स्टेशन के बाहर घोड़ा गाड़ी यानी तांगो की भरमार रहती थी। पर अब यहां पर तांगे नहीं दिखाई देते।

कई लाइनें आकर मिलती हैं
जब आप 1950 से 1970 के दशक की फिल्में देखेंगे जिसमें अगर दिल्ली रेलवे स्टेशन नजारा आता है तो पुरानी दिल्ली स्टेशन को ही दिखाया जाता था। पुरानी दिल्ली स्टेशन पर कई दिशाओं से आकर लाइन मिलती है। पुराने लोहे के पुल से होकर गाजियाबाद से लाइन आती है। वहीं सदर बाजार की तरफ से नई दिल्ली की लाइन आती है। पश्चिम की तरफ लाइन सराय रोहिल्ला और सब्जी मंडी की तरफ जाती है। यह एक अति व्यस्त रेलवे स्टेशन है।

कभी मीटर गेज लाइन भी थी
पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर शुरुआत में मीटर गेज की लाइन भी हुआ करती थी। 1876 में यहां राजपुताना स्टेट रेलवे मीटर गेज लाइन आकर मिली। खास तौर पर राजस्थान-गुजरात की तरफ जाने वाली रेल लाइनें मीटर गेज वाली थीं। बाद में पुरानी दिल्ली से मीटर गेज को हटाकर सराय रोहिल्ला को मीटर गेज का प्रमुख स्टेशन बना दिया गया। दिल्ली जंक्शन से 1994 में मीटर गेज पूरी तरह से विदा हो गया। 1904 में यह स्टेशन आगरा दिल्ली रेलवे लाइन से भी जुड़ गया। पर 1926 में नई दिल्ली रेलवे स्टेशन बनने के बाद आगरा तरफ से आने वाली रेलगाड़ियों का ठहराव नई दिल्ली में होने लगा।

मेट्रो के चांदनी चौक स्टेशन से जुड़ा
अब पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के मेट्रो ट्रेन के चांदनी चौक रेलवे स्टेशन से भी जुड़ गया है। चांदनी चौक मेट्रो स्टेशन से उतरने के बाद आप अंडर ग्राउंड रास्ते से होकर पुरानी दिल्ली स्टेशन के परिसर में सीधे निकल सकते हैं। अगर आप कश्मीरी गेट बस अड्डे की ओर से आ रहे हैं तो पुरानी दिल्ली स्टेशन के पीछे की तरफ से भी प्रवेश कर सकते हैं।

सोलर लाइटों से गुलजार
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन की तुलना में पुरानी दिल्ली स्टेशन वाकई पुराना ही लगने लगा था। पर हाल के दिनों में पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म का भी सौंदर्यीकरण किया गया है। साल 2016 में पुरानी दिल्ली स्टेशन के भवन पर सोलर प्लांट भी लगाया गया है जिससे स्टेशन पर रोशनी के बिजली बनाई जाती है।
-        विद्युत प्रकाश मौर्य – vidyutp@gmail.com
-        ( OLD DELHI RAILWAY STATION, DLI, JUNCTION )

No comments:

Post a Comment