Thursday, January 8, 2015

पेंड्रा रोड – अमरकंटक का प्रवेश द्वार

कटनी बिलासपुर रेल मार्ग पर पेंड्रा रोड छतीसगढ़ राज्य का पहला बड़ा रेलवे स्टेशन है। पेंड्रा रोड बिलासपुर जिले की तहसील है। आमतौर पर रोड नाम से जो रेलवे स्टेशन होते हैं वे शहर से दूर होते हैं। पर पेंड्रा रोड के साथ ऐसा नहीं है। स्टेशन के सामने पेंड्रा बाजार है। खाने पीने के लिए छोटे छोटे भोजनालय हैं। अगर आप देर से रेलवे स्टेशन पर उतरे हैं तो रहने के लिए लॉज भी हैं।

वास्तव में पेंड्रा छतीसगढ़ का बहुत ही पुराना शहर है। भले ही ये बिलासपुर जिले की तहसील है पर इसे अब पुलिस जिला और राजस्व जिला बनाने की मांग की जा रही है। बिलासपुर से पेंड्रा की दूरी 100 किलोमीटर है। पर पेंड्रा का महत्व आजकल इस मायने में है कि यह ऐतिहासिक तीर्थ और मध्य प्रदेश के बड़े हिल स्टेशन अमरकंटक का प्रवेश द्वार है। भले ही अमरकंटक मध्य प्रदेश में है पर यह तीन तरफ से छतीसगढ़ से घिरा हुआ है। रेल मार्ग से यहां पहुंचने का एकमात्र रास्ता पेंड्रा रोड से होकर ही है। पेंड्रा रोड से अमरकंटक की सड़क मार्ग से दूरी 45 किलोमीटर है। 

पेंड्रा बाजार में परंपरागत दुकानें हैं। कपड़े, अनाज और सब्जियों के अलावा मशीनरी सामानों की खूब दुकानें हैं। आसपास के 40 किलोमीटर की दूरी तक के लोगों के लिए खरीददारी के लिए बाजार है पेंड्रा। पेंड्रा और गौरेला वास्तव में टि्वन सिटी की तरह हैं। अब गेवरा रोड और पेंड्रा रोड के बीच नई रेललाइन परियोजना पर काम चल रहा है। इससे भविष्य में पेंड्रा रोड जंक्शन में तब्दील हो जाएगा।


पेंड्रा गोरेला की आबादी 20 हजार के आसपास है। पेंड्रा अच्छे मौसम के लिए जाना जाता है। रेलवे स्टेशन की समुद्र तल से ऊंचाई 618.4 मीटर है। स्टेशन बिल्कुल साफ सुथरा है। स्टेशन पर रिटायरिंग रूम की सुविधा भी उपलब्ध है। कटनी से बिलासपुर जाने वाली सभी प्रमुख रेलगाड़ियां इस स्टेशन पर रूकती हैं। छतीसगढ़ संपर्क क्रांति, अमरकंट सुपरफास्ट, हीराकुंड एक्सप्रेस, सारनाथ एक्सप्रेस, जैसी ट्रेनें यहां रुकती हैं।



अगर आप अमरकंटक जा रहे हैं तो अपने जरूरत के कई सामान यहीं से खरीद लें। क्योंकि अमरकंटक में छोटा सा बाजार है। वहां कई चीजें नहीं मिलतीं। पेंड्रा रोड से अमरकंटक के लिए बसें और टैक्सियां उपलब्ध रहती हैं। पर शाम हो जाने के बाद बसें और टैक्सियां कम हो जाती हैं। वैसे अगर आप समूह में यात्रा कर रहे हैं तो आरक्षित टैक्सी करके भी अमरकंटक जा सकते हैं।
-   -  विद्युत प्रकाश मौर्य - vidyutp@gmail.com 
( PENDRA ROAD, AMARKANTAK, RAILWAY STATION ) 

No comments:

Post a Comment