Tuesday, April 15, 2014

रुमानी है कोलकाता में ट्राम का सफर

कोलकाता  अपने देश भारत का इकलौता शहर है जहां आज भी    ट्राम   चलती हैंयहां ट्राम का सफर करना एक बेहतरीन और रुमानी    एहसास है। आठ से 15 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से कोलकाता की व्यस्त सड़कों पर दौडती ट्राम आपको खिड़की से कोलकाता शहर का तफशील से नजारा करने का मौका देती है। यह कोलकाता शहर का देखने का सबसे सस्ता साधन हो सकती है।


कोलकाता
   में ब्रिटिश समय से चली रही    ट्राम   का संचालन कोलकाता  ट्रामवे  कंपनी ( सीटीसी) करती है। पहले ट्राम में  प्रथम श्रेणी और द्वितीय श्रेणी के कोच हुआ करते थे। पर जून 2012 से ट्राम में फर्स्ट क्लास और सेकंड क्लास का भेद भी खत्म कर दिया गया है।

यानी अब दो डिब्बों के ट्राम में एक जैसी ही सुविधाएं मिलती हैं। पहले  सेकेंड क्लास वाले कोच में पंखे नहीं होते थे।    तीन सदियों से चल रही ट्राम का आकर्षण कोलकाता में मेट्रो ट्रेन आने के बाद भी कम नहीं हुआ है। इसलिए तो यहां ट्राम सेवा को बंद नहीं किया जा सका है।


2013 में आई सोनाक्षी सिन्हा की फिल्म बुलेट राजा का रोमांटिक   गीत      'सामने है सवेरा...' की शूटिंग कोलकाता   में हुई। गाने में उनके उनके साथ सैफ अली खान थेशूटिंग के दौरान वे हाथ रिक्शा में बैठीं और   ट्राम    का भी सफर किया।

ट्राम बनी पोलिंग बूथ - अप्रैल 2011 में पश्चिम बंगाल में महीने  भर   होने वाले विधानसभा चुनावों के दौरान राजधानी कोलकाता   में चलने वाली   ट्राम   पोलिंग बूथ यानी मतदान केंद्रों में बदल गई। कोलकाता    की तंग बस्तियों में रहने वाले लोगों के लिए ट्राम ने पोलिंग बूथ का भी काम किया।


ट्राम में रचाएं शादी - अब ट्राम में शादी की शहनाई बजने लगी है। ट्राम से बारात ले जाने के शौकीन परिवार का संबंध कोलकाता से नहीं,   बल्कि देश की दिल्ली से था। वैसे इन दिनों ट्राम में बर्थ डे पार्टी की तो धूम मची हुई है। विशेष रूप से शनिवार एवं रविवार को तो बर्थ डे पार्टी के लिए बुकिंग हाउसफुल हो जाती है। दिन भर चलने के बाद एक ट्राम से मुश्किल से एकाध हजार रुपये की कमाई होती है, पर सालगिरह की पार्टी के लिए दो घंटे में पांच हजार रुपये की कमाई हो जाती है।
अब वातानुकूलित ट्राम भी - सीटीसी द्वारा शुरू किया गया वातानुकूलित (एसी) ट्राम भी लोगों को काफी आकर्षित कर रहा है। विशेष रूप से विदेशी पर्यटक इसे काफी पसंद कर रहे हैं। एसी ट्राम में 24 लोग सफर कर सकते हैं। इसमें एफएम रेडियो, एलसीडी टीवी लगा है। कोलकाता का उत्तर से दक्षिण तक सफर कराने का किराया 260 रुपये है। इसमें यात्रियों को जलपान भी दिया जाता है। लोगों के बदलते हुए पसंद को देखते हुए सीटीसी अब बैंक्वेट ट्राम और कैफेटेरिया ट्राम भी शुरू करने जा रहा है।
-    विद्युत प्रकाश मौर्य - vidyutp@gmail.com 
( KOLKATA, BENGAL, RAIL, TRAM, CTC ) 

कोलकाता की सड़कों पर दौड़ती ट्राम का छोटा सा वीडियो....

No comments:

Post a Comment