Friday, February 14, 2014

मिजोरम का प्रवेश द्वार है सिलचर

सिलचर असम का अत्यंत महत्वपूर्ण शहर है। पर यह पूर्वोत्तर के दो प्रमुख राज्यों का प्रवेश द्वार भी है। यह न सिर्फ मणिपुर जाने के लिए प्रमुख रास्ता है बल्कि सड़क मार्ग से देश के सुदूर राज्य मिजोरम जाने का एकमात्र रास्ता है। मिजोरम की सीमा मणिपुर, म्यांमार, त्रिपुरा और असम से लगती है। पर देश के अन्य हिस्सों से मिजोरम पहुंचने का सुगम रास्ता असम के सिलचर होकर ही है।

सिलचर के क्लब रोड पर कैपिटल प्वाइंट चौराहा पर टैक्सी स्टैंड है जहां से मिजोरम की राजधानी आईजोल (AIZAWL) और मणिपुर की राजधानी इंफाल के लिए टैक्सियां मिलती हैं। आमतौर पर आईजोल के लिए बसें नहीं जातीं। आईजोल जाने का एकमात्र तरीका टैक्सी (सूमो) है। ये टैक्सियां 10 सीटों वाली होती हैं। इनमें शेयरिंग करके जाया जा सकता है। यानी अकेली सवारी भी टिकट बुक करा सकती है। हर पहाड़ी राज्य में इस तरह का सिस्टम चलता है। सिलचर के क्लब रोड पर टैक्सी स्टैंड वालों के दफ्तर हैं जो आईजोल के लिए सवारियों की बुकिंग करते हैं। इनमें वे एक बड़ी राशि कमीशन के तौर पर रख लेते हैं। टैक्सी ड्राईवर को कम राशि मिल पाती है। आप टैक्सी बुक कराते समय मोल भाव कर लें। हो सकता है आप किराया थोड़ा कम कराने में सफल हो जाएं।

नेशनल हाईवे नंबर 54 सिलचर और आईजोल को जोड़ता है। सिलचर से आईजोल टैक्सी से 6 से 8 घंटे का रास्ता है। सिलचर से आईजोल की दूरी 190 किलोमीटर है।  क्लब रोड स्टैंड से ही आईजोल की टैक्सी बुक कराई जा सकती है। हालांकि टैक्सी सिलचर से जिरीबाम होकर भी जाती है। पर सिलचर मणिपुर और मिजोरम जाने के लिए प्रमुख शहर है।

जब मैं इंफाल से टैक्सी से लौट रहा था, तब जिरीबाम में हमारी टैक्सी थोड़ी देर के लिए रूकी। इस दौरान एक महिला आई और हम सवारियों से पूछा कि क्या कोई आप में से आईजोल जाने वाला है तो हमारी टैक्सी में आ जाए। यहां गजब का नारी सशक्तिकरण है। कोहिमा में लोकल बस में महिला कंडक्टर दिखाई दी थी तो जिरिबाम में महिला एजेंट। सिलचर में आईजोल की सूमो सोनाई रोड पर मिजोरम हाउस से भी बुक होती है। वैसे मिजोरम जाने के लिए आप कोलकाता या गुवाहाटी से विमान के सफर का भी चयन कर सकते हैं।

इस बार की मेरी पूर्वोत्तर की यात्रा में असम, नागालैंड, मणिपुर और त्रिपुरा राज्य शामिल हैं। मेघालय, अरुणाचल, प्रदेश और मिजोरम को नहीं छू पा रहा हूं। पर मिजोरम के प्रवेश द्वार पर पहुंच कर आगे की ओर बढ़ जा रहा हूं।

मिजोरम सड़क मार्ग से सिलचर से होकर ही जाया जा सकता है। अभी मिजोरम का रेल संपर्क कायम नहीं हो सका है। हालांकि मिजोरम जाने की बड़ी इच्छा है। मणिपुर की तुलना में मिजोरमा शांत राज्य भी है। यहां पर राजधानी आईजोल में हमारे भारतीय जन संचार संस्थान की एक शाखा भी है।

मैं अपनी मिजोरम की यात्रा का कार्यक्रम किसी अगले दौरे में बनाउंगा। इस बार छुट्टियों के दिन कम पड़ गए हैं मिजोरम के लिए। फिलहाल तो मिजोरम के प्रवेश द्वार पर आकर यहां से आगे की ओर जाना पड़ रहा है। लेकिन मैं आऊंगा मिजोरम। 


मिजोरम का सौंदर्य ( फोटो सौ - http://northeasttourism.gov.in ) 
अगर आप मिजोरम जाना चाहते हैं तो सिलचर तक रेल सेवा से जा सकते हैं। अब लमडिंग सिलचर रेल मार्ग ब्राडगेज हो जाने के कारण आप दिल्ली से सीधे सिलचर तक ट्रेन से जा सकते हैं। फिर यहां से आईजोल के लिए टैक्सी बुक करें। हां मिजोरम के लिए इनर लाइन परमिट बनवाना न भूलें।

- विद्युत प्रकाश मौर्य - vidyutp@gmail.com 

SILCHAR, ASSAM, TAXI SERVICE, MIZORAM, AIZAWL )