Tuesday, December 11, 2012

चलो चलें ऊटी यानी उटकमंड - दक्षिण का सुहाना हिल स्टेशन

यहां से शुरू होता है दक्षिण के इकलौते हिल स्टेशन का सफर।  
ऊटी या उटकमंड या उदगमंदलम को दक्षिण भारत के तमिलनाडु का प्रमुख हिल स्टेशन होने का सौभाग्य प्राप्त है। हालांकि दक्षिण में केरल में मुन्नार, तमिलनाडु में कोडाईकनाल भी हिल स्टेशन हैं, पर ऊटी का आकर्षण इन सबसे से अलग है। यह आम आदमी लेकर फिल्मकारों, राजनेताओं सबको लुभाता है। ऊंचाई की बात करें तो ये शिमला और दार्जिलिंग से भी थोड़ा ऊंचा है। यानी 2200 मीटर से भी कुछ ज्यादा। सो ऊटी में सालों पर ठंडा-ठंडा कूल कूल रहता है। हालांकि तमिलनाडु को में कोडाई कनाल और केरल में मुन्नार में वातावरण मनोरम होता है लेकिन ऊटी दक्षिण का सदाबहार टूरिस्ट डेस्टिनेशन है। इसलिए यहां सालों भर सैलानी पहुंचते हैं। 

ऊटी जाने के दो रास्ते - ऊटी पहुंचने के दो रास्ते हैं। पहला रास्ता तमिलनाडु में कोयंबटूर शहर से है तो दूसरा कर्नाटक में बेंगलुरू से मैसूर होकर है। ऊटी कोयंबटूर से लगभग 90 किलोमीटर है। कोयंबटूर तमिलनाडु का बड़ा रेलवे स्टेशन है और एयरपोर्ट भी है। अगर आप दूर से आ रहे हैं तो कोयंबटूर से होकर ऊटी जाना सहज है। कोयंबटूर तक आप हवाई यात्रा से भी पहुंच सकते हैं।

कोयंबटूर से ऊटी अगर आप रेल से जाना चाहते हैं तो ब्राडगेज ट्रेन यहां से 45 किलोमीटर आगे मेटूपालियम तक जाती है। चेन्नई से चलने वाली ट्रेन ब्लू माउंटेन एक्सप्रेस मेटूपालियम तक जाती है। कोयंबटूर से मेटूपालियम पैसेंजर ट्रेन से जाया जा सकता है। महज छह रुपये किराया। एक घंटे का अरामदेह सफर। ट्रेन में कोई भीड़ नहीं। मेटुपलियम पहुंचते ही एहसास होने लगता है कि आप शीतलता हरियाली और प्रकृति के करीब जा रहे हैं। मेटुपलियम से ऊटी बस से जाया जा सकता है पर बस में भीड़ होती है। काफी इंतजार के बाद भी हो सकता है कि आपको बस में जगह नहीं मिले। 
इसलिए सैलानियों के लिए टैक्सी करना बेहतर है। टैक्सी वाले बुकिंग के 45 किलोमीटर के लिए 600 से 900 रुपये मांगते हैं। अगर शेयरिंग करते हैं तो 150 रुपये प्रति सवारी। अगर आप सड़क मार्ग से ही ऊटी जाना चाहते हैं कोयंबटूर से ही सीधे टैक्सी या बस बुक करके ऊटी जा सकते हैं। जो बसें कोयंबटूर से आती है उनमें मेटूपालियम में अक्सर जगह नहीं मिलती।


खिलौना ट्रेन से सफर -  मेटूपालियम से ऊटी का 45 किलोमीटर का यादगार सफर तो हो सकता है नीलगिरी माउंटेन रेलवे से। इसका आनंद लेने के लिए आपको समय निकालना पड़ेगा। अगर आपको ऊटी के लिए जल्दी पहुंचना है तो टैक्सी, बस का सहारा लें। नहीं तो अच्छा रहेगा कि खिलौना ट्रेन का ही सफर करें। 

मैसूर से भी आ सकते हैं ऊटी : ऊटी पहुंचने का दूसरा तरीका मैसूर से ऊटी बस से जाने का है। इस रास्ते से ऊटी की दूरी मैसूर से 140 किलोमीटर के आसपास है। ये तकरीबन चार घंटे का रास्ता है। लेकिन ये रास्ता पहाड़ी और घुमावदार है। हम ऊटी पहुंचे कोयंबटूर होकर और वापसी हुई मैसूर होकर तो आगे हम उस वापसी के सफर की भी चर्चा करेंगे।

-         -  --- विद्युत प्रकाश मौर्य - vidyutp@gmail.com

(  OOTY, UDAGMANDALAM, UTAKAMAND, NILGIRI, TAMILNADU, METTUPALAYAM, NMR, RAIL, METER GAUGE, SOUTH INDIA IN SEVENTEEN DAYS 44 ) 

No comments:

Post a Comment