Friday, November 23, 2012

ज्ञान की ज्योति जगाता कन्याकुमारी का विवेकानंद केंद्र


कन्याकुमारी का प्रमुख आकर्षण विवेकानंद केंद्र भी है। यह कन्याकुमारी रेलवे स्टेशन से एक किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। रेलवे स्टेशन से निकलने के बाद मुख्य सड़क पर जाकर आपको बायीं तरफ मुड़ना होगा तो आप विवेकानंद केंद्र पहुंच जाएंगे। 
राष्ट्रवादी संत एकनाथ रनाडे ने कन्याकुमारी में 100 एकड़ से ज्यादा क्षेत्र में विवेकानंद केंद्र का भी निर्माण कराया था। यह केंद्र 1972 से ही संचालित है। विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी के रॉक मेमोरियल से एक किलोमीटर तो स्टेशन से एक किलोमीटर दूर तिरुनवेली रोड पर स्थित है। विवेकानंद केंद्र सालों भर युवाओं को सामाजिक कार्यों की ओर प्रवृत करने के लिए कई शिविर लगाता है।



आवास का भी इंतजाम - केंद्र में सैलानियों के रहने की भी रियायती दरों पर शानदार इंतजाम हैं। यहां 200 से लेकर 1000 रुपये के बीच आवासीय कमरे उपलब्ध हैं। इनकी एडवांस बुकिंग भी होती है। आप 3 से 60 दिन पहले तक अग्रिम बुकिंग कर सकते हैं। इस साइट पर जाएं-  http://yatra.vivekanandakendra.org/
Phone: +91 - (0)4652 - 246250 email: rooms@vkendra.org
विवेकानंद केंद्र के परिसर में एक बेहरीन पुस्तकालय, विवेकानंद पर प्रदर्शनी, पुस्तक बिक्री केंद्र है। साथ ही केंद्र में आप एकनाथ रनाडे का आवास देख सकते हैं, जो उनके नहीं रहने पर अब संग्रहालय में तब्दील कर दिया गया है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ स्वंयसेवक रहे रनाडे संघ के दूसरे सर संघ चालक गोलवलकर जी (गुरुजी) के भी काफी करीबी थे।


केंद्र में अच्छी कैंटीन भी -  विवेकानंद केंद्र के हरे भरे परिसर में मंदिर और एक अच्छी कैंटीन भी है। यहां 40 रुपये में खाने की थाली (सीमित) मिलती है। हमलोग खाना खाने के बाद केंद्र में पहुंचे थे। इसलिए सिर्फ चाय की चुस्की का आनंद लिया। अनादि को भी यहां की चाय खूब पसंद आई। कैंटीन का हॉल देखकर अपने बीएचयू के हॉस्टल के मेस की याद आ गई। 


कई तरह की सामाजिक गतिविधियों का संचालन - विवेकानंद केंद्र न सिर्फ कन्याकुमारी बल्कि देश के कोने कोने में अपनी गतिविधियां संचालित करता है। केंद्र द्वारा अरुणाचल प्रदेश में कई तरह की गतिविधियां संचालित की जा रही हैं। 1974 से ही केंद्र असम और अरुणाचल में मोबाइल मेडिकल यूनिट संचालित कर रहा है। 

देश भर में 200 से ज्यादा शाखाएं -  विवेकानंद केंद्र की देश भर में 225 से ज्यादा शाखाएं कार्यरत हैं। इन शाखाओं के द्वारा समाजसेवा के कई कार्यक्रम संचालित किए जाते हैं। केंद्र का पूर्वोत्तर राज्यों खासतौर पर अरुणाचल प्रदेश में कई कार्यक्रमों का संचालन किया जा रहा है।


केंद्र में समय समय पर आध्यात्मिक और योग शिक्षा शिविरों का आयोजन किया जाता है। केंद्र स्वाध्याय वर्ग और संस्कार वर्ग भी चलाता है। आप देश के किसी भी हिस्से में केंद्र की गतिविधियों में हिस्सा ले सकते हैं। जिस समय हमलोग केंद्र में पहुंचे यहां एक ऐसा ही स्वाध्याय वर्ग चल रहा था। केंद्र में कई अवकाश प्राप्त बुजुर्ग भी मिले जो समय दान देकर यहां सेवा कार्य में लगे थे।

समय दान देने की परंपरा - समाज सेवा के इच्छुक लोग इससे जुड़ सकते हैं। साथ ही आप विवेकानंद केंद्र में समय दान देकर वहां अपनी सेवाएं भी दे सकते हैं। यहां कम से कम एक महीने या इससे अधिक का समय कार्यकर्ता के तौर पर दिया जा सकता है। आप भी चाहें तो केंद्र को समाज सेवा के लिए अपना समय दान कर सकते हैं। यह समय एक महीने, तीन महीने, छह महीने या एक साल का हो सकता है। ऐसे समय दानियों के लिए आवास और भोजन का इंतजाम केंद्र की ओर से किया जाता है। 
http://www.vivekanandakendra.org/
-
  -- विद्युत प्रकाश मौर्य  - vidyutp@gmail.com 
(  ( SWAMI VIVEKANAND, KANYAKUMARI, ROCK MEMORIAL,  VIVEKANAND KENDRA, 
SOUTH INDIA IN SEVENTEEN DAYS 27 ) 

No comments:

Post a Comment