Saturday, March 30, 2013

ये दिल मांगे जामुनी रंग के फल



ये दिल मांगे मोर... खूब लोकप्रिय लाइन है। पर क्या आपको पता है कि आपका दिल का मांगता है। वास्तव में दिल को चाहिए जामुनी रंग की खुराक यानी परपल कलर के फल और सब्जियां। कई शोध ये सामने आया है कि जामुनी रंग की फल और सब्जियां दिल की सेहत के लिए अच्छी हैं। ये फल और सब्जियां आपके शरीर में गुड कोलेस्ट्राल को बढ़ाने में सहायक हैं।

क्या आप जानते हैं कि आपका खाना पीना आपके मुंह के स्वाद नहीं बल्कि आपके दिल की जरूरतों के मुताबिक भी होना चाहिए। पर अक्सर हमें ये नहीं पता होता कि हमारे दिल की जरूरत क्या है।

कहा गया है कि हर रंग कुछ कहता है। तो हम जब फल और सब्जियों की ओर रुख करते हैं तो उनके रंग का भी काफी महत्व है। तो इसी सिलसिले में जामुनी रंग के फल और सब्जियों की बात करें तो ये शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रोल को बढ़ाने में काफी सहायक होती हैं। दिल की सेहत के लिए बनाई जाने वाली कई दवाएं तो ब्लैक ग्रेप यानी काले रंग के अंगूर से बनाई जाती हैं।

काला अंगूर ( BLACK GRAPE ) - तो इन जामुनी रंग के फलों में सबसे पहले बात करते हैं ब्लैक ग्रेप की। वास्तव में ये पूरी तरह काला नहीं बल्कि हल्का जामुनी रंग का होता है। यह देश दुनिया में उगाए जाने वाले सबसे प्राचीन फलों में शामिल है। इसका इतिहास आठ हजार साल पहले भी मिलता है। यह विटामिन और एंटी ऑक्सीडेंट के गुणों से भरपूर होता है। मिशिगन यूनीवर्सिटी के एक शोध के मुताबिक यह दिल के लिए काफी अच्छा होता है। यह रक्तचाप बढ़ाने, मोटापा घटाने के साथ शरीर में गुड कोलेस्ट्रोल ( एचडीएल) को तेजी से बढ़ाता है। यह आंखों की रोशनी बढ़ाने और कैंसर से लड़ने में भी मददगार है।

जामुन – ( JAMBUL, JAVA PLUM ) बात जामुन की करें तो इसके नाम पर भी जामुनी रंग की पहचान होती है। जामुन न सिर्फ शुगर मरीजों के लिए लाभकारी है बल्कि यह दिल के लिए भी अच्छा है। हां जामुन को खाने के दो घंटे बाद खाना चाहिए। साथ ही इसके आगे पीछे दूध नहीं पीना चाहिए। इसमें विटामिन बी, कैरेटीन, मैग्नेशियम और फाइबर होता है। इसको खाने से पेट से जुड़ी कई तरह की समस्याएं दूर हो जाती हैं। यह कैंसर और पथरी से लड़ने में भी काफी कारगर है।


चुकंदर – ( BEETROOT ) चुकंदर आपको मधुमेह, खून की कमी और कोलेस्ट्रोल जैसी बीमारियों से बचाता है। यह न सिर्फ खून में वृद्धि करता है बल्कि शरीर में गुड कोलेस्ट्रोल भी बढ़ाता है। इसे ज्यादातर सलाद के रूप में ही खाना चाहिए। इसका जूस पीना ठीक नहीं है। इसे खाली पेट भी खा सकते हैं। इसकी पत्तियां भी काफी गुणकारी होती हैं। चुकंदर में विटामिन बी, विटामिन सी, फास्पोरस, कैल्शियम होता है। यह एंटी आक्सीडेंट के गुणों से भरपूर है।


बैंगन और काली गाजर – आम तौर पर लोग सब्जियों में बैगन की उपेक्षा करते हैं तो पर बैंगन भी दिल के लिए काफी अच्छा होता है। इसलिए आप बैगन की सब्जी और इसका भरता खूब खाएं। इसी तरह काले रंग वाली गाजर भी सेहत के गुणों से भरपूर होती है।

शहतूत - ( MULBERRY ) इस तरह के फलों के क्रम में आप शहतूत को भी शामिल कर सकते हैं।भोजपुरी क्षेत्र मे इसे तूत भी कहते हैं। शहतूत का फल खाने में जितना स्वादिष्ट होता है उतना सेहतमंद भी होता है। आयुर्वेद में तो शहतूत के ढेरों फायदों का बखान मिलता है। 
शहतूत में पोटैशियम, विटामिन ए और फॉस्फोरस प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। यह शरीर में फैले प्रदूषण को साफ करके बाहर निकालने में कारगर है। 

तो अगली बार जब आप खाने पीने के लिए फल और सब्जियां खरीदने निकलें तो उनके रंगो का भी खूब ख्याल रखें। वे फल आपकी सेहत का ख्याल रखेंगे।
-        विद्युत प्रकाश मौर्य – vidyutp@gmail.com
( PURPLE COLOR FRUITS, JAMUN, BLACK GRAPE, MULBERRY, CHUKANDAR, BEETROOT, BAINGAN )

No comments:

Post a Comment